सरकार गिरने बचाने के बीच अशोक गहलोत ने लिखा पीएम मोदी को लिखा ये पत्र

305

इन दिनों राजस्थान की राजनीति में किस तरह का स्तर देखने को मिला है ये बात किसी से भी छुपी हुई नही है. किस तरह से पायलट और गहलोत आपस में भिड़े थे फिर बीजेपी का नाम भी आया कि वो विधायक ले जा रहे है और आरोप प्रत्यारोप का दौर चला. गजेन्द्र सिंह शेखावत पर कई आरोप भी लगे और वसुंधरा भी इस मामले में कूदी. अब इतना  कुछ हो जाने के बाद में लगा कि गहलोत तो बीजेपी की तरफ मुंह भी न देखेंगे लेकिन उन्होंने केंद्र सरकार को पत्र लिखा है और अपने काम के कारण लिखना पड़ा है.

राजस्थान नहर परियोजना को राष्ट्रीय परियोजना की मांग, लिखा पत्र
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा है जिसमे राजस्थान नहर परियोजना को राष्ट्रीय परियोजना बनाने की मांग की है. गहलोत ने लिखा है कि सैतीस हजार करोड़ रूपये वाली इस परियोजना से पूरे 13 जिलो में पानी की  उपलब्धता सुनिश्चित हो सकेगी. पहले भी इस तरह के प्रस्ताव के लिए अनुमोदन हो चुके है लेकिन बाते ख़ास तौर पर आगे बढ़ नही सकी है लेकिन इस बार मोदी सरकार को स्पेशल रिक्वेस्ट की गयी है.

राजस्थान में पानी की उपलब्धता को और ज्यादा बेहतर करने के लिए ये बहुत ही ज्यादा जरूरी है और अब अशोक गहलोत को इसके लिए कही न कही मोदी सरकार की मदद की जरूरत रहेगी.  हाँ उनकी कई मामलो में नही बनती है, राजनैतिक बयानबाजियां भी काफी ज्यादा अलग किस्म की रही है लेकिन इसके बावजूद राज्यों को केंद्र की मदद की दरकार रहती है. केंद्र पल भर के लिए भी हाथ खींच ले तो राज्य की सरकारे लडखडाने लग जाती है और ये सत्य है.

वही बात करे राजनीतिक घटनाक्रम की तो सचिन पायलट के इतना प्रयास करने के बाद भी अशोक गहलोत ने अपनी सत्ता को स्थायी करने में काफी हद तक सफलता हासिल कर ली है और कही न कही ये चीज तो हर कोई देख भी रहा है.