मोदी सरकार लाने जा रही है नया क़ानून, 20 तारीख से होगा लागू

1335

सरकारों का काम होता है कि वो जनता के लिए कुछ न कुछ करे जिससे कि आम लोगो को फायदा हो और कही न कही मोदी सरकार इस मामले में करती रही है ताकि लोगो की मदद होती रहे. अब हाल ही की अगर हम बात करे तो अनुच्छेद 370 से लेकर तीन तलाक से जुड़े कई सारे क़ानून है जो इन दिनों में आये है. मगर अब हाल ही में जो बड़ा क़ानून आने जा रहा है उसका सीधा सीधा प्रभाव आपके और हम सबके जीवन पर पड़ने वाला है.

उत्पाद का भ्रामक विज्ञापन देना कम्पनी को पड़ेगा भारी, जेल की भी सजा
पहले से देश में उपभोक्ताओं का संरक्षण किया जा रहा है और आप कोई चीज खरीदते है तो उस मामले में आपको सुरक्षा कोर्ट से मिल जाती है लेकिन कई लूपहोल अब भी थे मॉडर्न युग में उभर रहे थे उन्हें एड्रेस किया गया है. अब उपभोक्ता संरक्षण क़ानून 2019-20 लागू होने जा रहा है जो कि इस 20 जुलाई से प्रभाव में आने वाला है. इसके अनुसार अब किसी भी प्रोडक्ट के बारे में भ्रामक विज्ञापन देना किसी भी कम्पनी को बहुत ही ज्यादा भारी पड सकता है.

अगर कोई कम्पनी ऐसा करती है तो इसमें जेल से लेकर जुर्माने तक का भी प्रावधान रखा गया है. साथ ही साथ में कोर्ट से बाहर आपसी समझौते का भी प्रावधान है ताकि कस्टमर जल्दी न्याय प्राप्त कर सके. ये अपने आप में बहुत ही ज्यादा बेहतरीन है और लोग इसकी तारीफ़ भी कर रहे है कि इससे जो कम्पनियां या बेचने वाले फर्जी तरीके से विज्ञापन चलाकर के ग्राहकों को बेवकूफ  बनाते थे और अपनी चीजे बेचकर राजा हो जाते थे उन पर अब लगाम लगने जायेगी, अब कम्पनियां विज्ञापनों के माध्यम से बेवकूफ नही बना सकेगी.

मोदी सरकार के इस फैसले की हर कोई तारीफ़ कर रहा है और तारीफ़ के काबिल तो ये वाकई में ये है. इसी क़ानून को पहले ही लागू कर दिया जाना था लेकिन लॉक डाउन और फिर महामारी जैसी कई दिक्कतों के चलते हुए ये आगे बढ़ते चला जा रहा था.