राजस्थान में झगडा और बढ़ा, अपने समर्थक विधायको के साथ हाई कोर्ट पहुँच गये सचिन पायलट

815

जब भी ऐसा नजर आने लगता है कि राजस्थान में उठा सियासी तूफ़ान बस थमने ही वाला है कि तभी अचानक से एक ऐसी चीज सामने आ जाती है जो कही न कही सब लोगो को हिलाकर के रख देती है. अब जब सचिन पायलट ने ये कहा कि वो बीजेपी में नही जायेंगे तो सबको लगा कि चीजे ठीक हो गयी है और वो वापिस चले जायेंगे लेकिन तभी खबर आती है कि सचिन पायलट और उनके समर्थको को अब अयोग्य घोषित करने की चाल चली जा रही है. माना जा रहा है कि इसके पीछे अशोक गहलोत है.

सचिन पायलट और उनके सहयोगियों को स्पीकर का नोटिस, हाई कोर्ट पहुंचे सचिन पायलट
और उनके साथी सदस्यों को स्पीकर की तरफ से नोटिस भेजा गया है, माना जा रहा है कि व्हिप में न आने और कई ऐसे कारणों के चलते हुए एक खेमा सचिन पायलट और उनके साथियो को विधानसभा से भी निलंबित करवाने में लगा हुआ है. ऐसे में अब इस पूरे घटनाक्रम के बीच में पायलट अचानक से हाई कोर्ट पहुँच गये है जहाँ पर इस पूरे मामले की सुनवाई की जानी है.

बहुत ही संवेदनशील मसला देखते हुए इसकी सुनवाई भी जल्दी की जा रही है. हाई कोर्ट की जस्टिस सतीष चन्द्र मिश्रा की बेंच इसकी सुनवाई करेगी जिसका समय तीन बजे का रखा गया है और पायलट यहाँ पर अपनी और अपने साथियो की विधायकी को बचाए रखने के इरादे से पहुंचे है. अगर पायलट ने इतना बड़ा कदम लिया है तो जाहिर तौर पर कुछ सोच समझकर के ही लिया होगा मगर उनको दिक्कत तो काफी ज्यादा होने जा रही है इतनी बात तय मानकर के चलना होगा.

हालांकि अशोक गहलोत के तेवर तो काफी ज्यादा तल्ख़ है. उनके बयानों में भी सचिन के लिए बिलकुल भी मर्म अब नही झलकता है मानो अब तो वो पायलट को देखना तक नही चाहते है. हालांकि हाईकमान तो अब भी यही चाह रहा है कि सुलह हो जाये और चीजे पहले जैसी हो जाए.