लद्दाख बॉर्डर पर चीन ने फिर पीछे हटने से किया मना, मोदी ने दिया सेना को ये विशेष अधिकार

451

भारत और चीन के बीच में एक वक्त से काफी ज्यादा तनाव चला है और सब लोग इस वजह से चीन को नापसंद भी करने लगे है क्योंकि कोई भी अपनी सीमाओं पर इस तरह की हरकते कभी भी बर्दाश्त नही कर सकता है. अब ऐसे वक्त में लगातार भारत और चीन दोनों ही देश के सैन्य अधिकारी आपस में एक दुसरे के साथ में मिलकर के मीटिंग कर रहे है और पीछे हटने पर काम हो रहा है लेकिन अब चीन ने एक बार फिर से अपनी जिद दिखानी शुरू कर दी है.

चीन का फिंगर एरिया से पीछे हटने से इनकार, मोदी सरकार ने भी सेना को खरीद के अधिकार दिये
चीन और भारत के बीच में लगातार डिप्लोमेटिक और सैन्य लेवल पर बातचीत चली है जिसमे चीन ने गलवान के इलाके पर अपनी तरफ से पीछे हटकर के दिखा दिया है जो कही न कही बड़ी बात थी लेकिन हाल ही में चीन ने फिंगर एरिया से पीछे हटने से मना कर दिया है और चेतावनी भरी भाषा में कहा है कि इससे पीछे हटना उसे मंजूर नही है.

अब इधर चीन सख्ती दिखा रहा है तो भारत सरकार भी काफी ज्यादा सेना के लिए ओपन हो रही है. कुछ वक्त पहले भी सरकार ने सेना को खरीद के अधिकार दिये थे और अब हाल ही में सेना को लद्दाख के मसले को देखते हुए सरकार ने सेना को 300 करोड़ रुपये की खरीद डायरेक्ट करने का अधिकार दे दिया है जो अपने आप में काफी ज्यादा बड़ा फैसला माना जा रहा है. अब सेना किसी भी स्थिति में इस कीमत के जो भी चीजे चाहे वो अपनी मर्जी के डायरेक्ट खरीद सकती है.

कही न कही ये भारत की तरफ से चीन को एक सख्त सन्देश है कि हमारे पास भी अच्छे खासे रिसोर्स है और इसलिए उसे अब अपनी तरफ से ज्यादा होशियारी दिखानी रोक ही देनी चाहिए क्योंकि यहाँ पर उसका पाला तिब्बत या फिर भूटान से नही बल्कि भारत से पड़ा है जो किसी कीमत पर झुकने वाला नही है.