राजस्थान में सरकार बचाने के लिए अशोक गहलोत और सोनिया गांधी ने मिलकर उठाया बड़ा कदम

421

इन दिनों राजस्थान में बड़ी ही अस्थिरता नजर आ रही है. लगातार सचिन पायलट की नाराजगी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से नजर आती रही है लेकिन बीते कुछ वक्त में सब कुछ काफी ज्यादा तेजी एक साथ में बदला है और हम लोग देख ही रहे है कि अब सचिन पायलट अपने खेमे के दर्जनों विधायको को लेकर के अलग हो गये है और अपनी मांगे आगे कर रहे है. अब सूत्र तो ये भी बताते है कि गेम काफी बड़े लेवल पर चल रहा है और इस मामले में पूरी पार्टी का हाई कमान एक्टिव हो गया है.

गहलोत ने जारी करवाया व्हिप, सोनिया ने भी कई बड़े लीडरो को राजस्थान भेजा
अब सचिन पायलट ने जो कुछ भी किया है उसके बाद में समय काफी अधिक संवेदनशील हो चला है. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने व्हिप जारी कर दिया है जिसमे कांग्रेस के सभी विधायको का शामिल होना एक तरह से कम्पलसरी हो जाता है. हालांकि अभी ये तय नही है कि व्हिप जारी करने के बाद भी सचिन पायलट इस बैठक में शामिल होंगे या फिर नही होंगे.

वही सोनिया गांधी ने भी अपनी तरफ से कदम उठाया है. उन्होंने रणदीप सुरजेवाला और अजय माकन समेत कुछ एक सीनियर नेताओं को जयपुर भेजा है ताकि वो स्थिति को संभाल सके और मध्य प्रदेश की ही तरह राजस्थान को भी हाथ से निकलने से रोक सके. हालांकि ये काम उतना भी आसान नजर नही आता है जितना कि होना चाहिए बाक़ी तो जो भी है वो आने वाले कुछ घंटो के अन्दर साफ हो ही जायेगा कि आखिर अन्दर ही अन्दर क्या कुछ खिचड़ी पक रही है?

वही बात करे बीजेपी के खेमे की तो अभी फ़िलहाल के लिए वो कोई भी एक्टिव रोल होने से पूरी तरह से इनकार कर रही है मगर सूत्र ये कहते है कि बीजेपी पायलट के संपर्क में आ गयी है और वो उनकी मदद से सरकार बनाने की कोशिश में है.