चल गया मोदी का सबसे बड़ा गेम, चीन को दिया बैठे बैठे तगड़ा झटका

337

भारत और चीन के बीच में इन बीते दिनों में लगभग एक दुसरे के आमने सामने ही रहे है और इस वजह से कही न कही आपस में एक तरह से आर्थिक मोर्चे पर तो दोनों ही देश एक दुसरे को टक्कर देने की कोशिश में लगे हुए है. अब चीन तो भारत का कुछ कर नही  पा रहा है लेकिन भारत ने जो किया है वो चीन के लिए एक बहुत ही बड़ी आर्थिक चोट साबित होने जा रही है क्योंकि मोदी सरकार को एक बड़ी कम्पनी भारत में कामयाबी मिल गयी है.

आईफोन बनाने वाली कम्पनी चीन से भारत शिफ्ट करेगी प्रोडक्शन, होगा भारी निवेश
एप्पल के आईफोन बनाने का काम खुद एप्पल नही करता है बल्कि फॉक्सकोन नाम की एक ताईवानी कम्पनी करती है. इस कम्पनी के अधिकतर प्लांट और काम चीन में चलते है लेकिन अब हाल ही में चीन का जो चेहरा सामने आया है उसके बाद में कम्पनियां काफी टेंशन में आ गयी है और इस कारण से फॉक्सकोन नाम की ये कम्पनी भारत में अपना प्रोडक्शन शिफ्ट करने जा रही है जिसके ऊपर फैसला भी तकरीबन हो ही गया है.

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो ये कम्पनी भारत में कुल 1 अरब डॉलर का निवेश करेगी और हजारो लोगो को नौकरी भी देगी. इसका प्लांट चेन्नई के नजदीक बनने जा रहा है और ये अपने आप में काफी बड़ी बात होगी क्योंकि आईफोन जो सारी दुनिया में सप्लाई होते है वो अब भारत में बनेंगे. हालांकि पहले से भारत में आईफोन बन रहे है लेकिन वो प्लांट काफी छोटे है मगर इस प्लान्ट के साथ में भारत एक नए लेवल पर चला जायेगा और आप मेड इन इंडिया प्रोडक्ट की इसे एक बड़ी नींव मान सकते है.

अभी इसके अलावा भी मोदी सरकार प्रयत्न कर रही है कि ज्यादा से ज्यादा कम्पनियों को भारत की तरफ लाया जा सके और काम अच्छे तरीके से हो. चीन को छोड़ रही कम्पनियों की पहली पसंद वैसे भारत नही बल्कि थाईलैंड, वियतनाम और कोरिया बने है और इसका सबसे बड़ा कारण यहाँ पर लोकल स्तर पर भ्रष्टाचार, रेड टेप सिस्टम और स्किल की कमी होना माना जा हर है, मगर इसके बावजूद मोदी सरकार कुछ कुछ हद तक कामयाब हो रही है.