विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद शहीद पुलिस जवान के पिता ने कहा, मैंने योगी जी को..

517

उत्तर प्रदेश पुलिस के जवानो की जान लेकर के भागने वाले विकास दुबे का अंत हो गया और कही न कही जब से विकास दुबे के साथ में ये सब हुआ है उसके बाद से हर तरफ इसे लेकर के चर्चाये ही चर्चाये चल रही है. कोई कह रहा है ठीक हो गया तो कोई कह रहा है कि कानून का मजाक उड़ रहा है. इन सबके बीच में वो पुलिसकर्मी जिसने अपनी जान गँवा दी थी उसके पिता ने कुछ कहा है और इसे आप एक तरह से योगी आदित्यनाथ की तारीफ़ के तौर पर भी ले सकते है.

मैंने योगी आदित्यनाथ की आँखों में क्रोध देखा था, तब विश्वास हो गया था कि इन्साफ मिलेगा
आपको मालूम होगा कि यही कोई हफ्ते भर पहले विकास दुबे ने जो कुछ किया था उसमे कई पुलिस के जवानो की जवान गयी थी और उनमे से एक जितेन्द्र भी थे. शहीद जितेन्द्र के पिता तीर्थ पाल सिंह ने अब इस पूरे घटनाक्रम के बाद में योगी आदित्यनाथ को लेकर के बयान जारी किया है और उनके बयान से पता लग जाता है कि वो उनकी तारीफ़ कर रहे है.

तीर्थ पाल सिंह कहते है कि जब मैंने अपने बेटे का शरीर लेने के लिए गया था तब योगी जी ने मुझसे सिर्फ दो शब्द पूछे थे. उस वक्त मेने योगी जी की आंखो में जो क्रोध देखा था जो सीने में ज्वाला देखी थी उसे देखकर के मुझे यकीन हो गया था कि हमें इंसाफ जरुर मिलेगा. मैंने अपनी पत्नी से भी यही कहा था कि योगी जी अब इसका काम कर ही देंगे.

हालांकि साथ ही साथ में वो ये बात भी मेंशन करते है कि वो लोग जिन्होंने विकास दुबे की मदद की थी उनके खिलाफ इससे भी बड़ी कार्यवाही होनी चाहिए. विकास दुबे का चैप्टर बंद होने के बाद भी इन लोगो को नही भूला जाना चाहिए. अगर आप नजर डाले तो इन लोगो को की धर पकड़ की कोशिशे भी अच्छे से जारी है.