केपी ओली की कुर्सी बचाने के लिए जोर लगा रही ये चीनी महिला, जानिये क्या है दोनों के सम्बन्ध

265

केपी ओली शर्मा इन दिनों अपने जीवन की सबसे बड़ी राजनैतिक अस्थिरता से गुजर रहे है जहाँ पर उनकी कुर्सी कब गिर पड़े कोई भी नही जानता है और ये बात हर कोई अपने आप में सच मान भी चुका है. अगर अभी की बात करे तो केपी ओली अपनी ही पार्टी में घिर गये है और प्रचंड खेमा उनको हर हाल में सत्ता से बाहर करने में जुटा हुआ है. भारत के इए तो ये अच्छी बात ही है लेकिन इसी बीच इस मामले में चीन का हस्तक्षेप बढ़ गया है और कही न कही ये बुरा है.

चीनी राजदूत यांकी हाओ ओली की कुर्सी बचाने में जुटी, दोनों की करीबी पर उठे सवाल
अभी फ़िलहाल नेपाल में खेमेबंदी चल रही है जिसमे एक तरफ प्रचंड है तो दूसरी तरफ ओली है. ओली को बचाने के लिए नेपाल में मौजूद चीनी राजदूत यांकी हाओ अपना पूरा जोर लगा रही है. सूत्र बताते है कि वो गुपचुप तरीके से नेपाल के कई नेताओं से मिली है या फिर अपने लोगो को भेजकर के अपनी बाते पहुंचाई है, इस तरह से ओली को बचाने का काम हो रहा है.

अब इतना तो समझ आता है कि ओली चीन के हितैषी है तो इस वजह से उनके लिए चीन कोशिशे कर रहा है लेकिन यांकी हाओ जिस तरह से ओली में इतनी ज्यादा दिलचस्पी दिखाती है वो कही न कही कुछ और ही इशारा भी करता है जिसे लेकर के खूब अफवाहे भी उडी है हालांकि इसका अब तक कोई प्रमाण नही मिला है.

अब ये जितना कुछ भी ड्रामा हुआ है उसमे भारत के राजदूत भी अपनी तरफ से कोशिश कर रहे है कि सत्ता भारत का सपोर्ट करने वाले पक्ष की रहे न कि विरोध करने वाले की क्योंकि नेपाल भारत के लिए एक बहुत ही बेहतरीन पार्टनर और पडोसी देश रहा है जिसका स्ट्रेटजीकली भारत के पक्ष में होना बेहद ही ज्यादा जरूरी भी है.