चीन से तनाव के बीच पीएम मोदी ने किया पुतिन को फोन, कही ये बात

323

इन दिनों विश्व भर में काफी ज्यादा अस्थिरता आ रखी है और इसका केंद्र कही न कही चीन बन रखा है। मगर अब जब ऐसा वक्त हो चला है तो भारत अपनी सूझ बूझ से एशिया रीजन में शांति बनाने का काम कर रहा है क्योंकि चीन को चुनोती देने वाला एक भारत ही है। अब हाल ही में इस मामले में रूस की एंट्री भी हुई है क्योंकि रूस भारत का रणनीतिक साझेदार भी है तो ऐसे वक्त में पीएम मोदी का कॉल भी रूसी राष्ट्रपति पुतिन के पास पहुंच गया जिसके इन दिनों में काफी गहरी मायने है।

फिर से राष्ट्रपति निर्वाचित होने पर दी बधाई, आपस मे पार्टनरशिप मजबूत करने पर दिया जोर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के राष्ट्रपति पुतिन को फोन किया और फोन करने के बाद उन्होंने रूस के राष्ट्रपति 2036 तक निर्वाचित होने के लिए पुतिन को बधाई दी। इसके साथ मे उन्होंने रूस और भारत के बीच मे रणनीतिक साझेदारी बढ़ाने पर बात की और आज ही रूस को मोदी ने नई जनरेशन के मिग और सुखोई विमानों का ऑर्डर भी दे दिया है जिनकी जल्द ही डिलीवरी हो जाएगी। ये विमान चीन के बोर्डर पर चीनियों को टेकल करने में काफी ज्यादा अहम भूमिका निभा सकते है ऐसा माना जा रहा है।

इसके अलावा रूस कर राष्ट्रपति पुतिन और प्रधानमंत्री ने मोदी आपस के द्विपक्षीय बातों को और ज्यादा बेहतर करने और सहमति जताई, कुल मिलाकर के इस पर्सनल कॉल को करके पुतिन से बात करने का लक्ष्य कही न कही चीन से रूस को दूर कर लेने का था और दुनिया के बड़े बड़े फोरम मर रूस चीन की बजाय भारत का पक्ष ले ये बहुत ही ज्यादा जरूरी है।

अब जो भी है भारत को रूस ही नही बल्कि ऑस्ट्रलिया, जापान, यूरोप और अमेरिका से भी इसी तरह से बेहतरीन संबंध बनाए रखने होंगे ताकि चीन या पाक अगर कल को कोई बदमाशी करे तो इनको अंतरराष्ट्रीय फोरम में इनको पटखनी दी जा सके।