भारत द्वारा चीनी एप्स को बैन करने पर अमेरिका की तरफ से दिया गया बड़ा बयान

361

हिन्दुस्तान की सरकार द्वारा चीन के लगभग 59 एप्स को बैन करने के बाद में ये बहुत ही अधिक बड़ी बात हो चली है क्योंकि इसे कही न कही भारत के एक बहुत बड़े शुरूआती कदम के तौर पर देखा जा रहा है जो कई लोगो को ऊम्मीद भी न थी कि टिक टॉक जैसा एप्प भी बंद हो जाएगा. मगर अब ये सब जब हुआ है तो कही न कही सारी बाते क्लिअर भी हो ही गयी है. मगर अब इसके बाद में दुनिया भर से रिस्पोंस आने लगा है और अमेरिका का रिस्पोंस तो काफी सकारात्मक नजर आ रहा है.

अमेरिका ने की भारत के फैसले की सराहना, कहा इससे भारत की सुरक्षा मजबूत होगी
भारत के इस फैसले के बाद में अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने इस पर अपनी तरफ से काफी सीधी और सपाट प्रतिक्रिया दी है. माइक पोम्पिओ ने कहा कि अगर भारत टिक टॉक समेत इन चीनी एप पर प्रतिबन्ध लगा रहा है तो इससे जाहिर तौर पर भारत की सुरक्षा बढ जाएगी. हम लोग भारत के इस फैसले का स्वागत करते है. ये चीनी एप्प्स चीन की सरकार के लिए छुप छुपकर के जासूसी करने का काम कर रही थी.

माइक पोम्पियो के अलावा कई और अमेरिकी नेताओं ने तो भारत के कदमो पर चलते हुए अमेरिका में भी ऐसा ही फैसला लेने के लिए कहा है ताकि डाटा की सुरक्षा की जा सके. आपकी जानकारी के लिए बता दे मोदी सरकार ने एक नोटीफिकेसन जारी करते हुए कई चीन के एप्प पर इनफार्मेशन टेक्नोलोजी एक्ट के तहत पाबंदी लगा दी थी जिसके बाद से ही लगातार इस फैसले पर दुनिया भर से काफी मात्रा में रिएक्शन आ रहे है और ये तो आने ही थे.

वही दूसरी तरफ देखे तो चीन में इस फैसले के बाद से काफी ज्यादा मायूसी छा रखी है क्योंकि इससे उसे कई बिलियन डॉलर का सीधा नुकसान हो रहा है जो कि एक बहुत ही बड़ा झटका साबित हो सकता है.