अमेरिका और ब्रिटेन ने चीन के खिलाफ उठाया अब तक का सबसे बड़ा कदम, नाराज हुआ चीन

675

आज के वर्ल्ड के सेनेरियो को अगर हम लोग देखे तो सारी की सारी जनता और देश एक तरफ हो रखे है और चीन व जिनपिंग एक तरफ हो रखे है. वो लगातार ऐसे ऐसे काम कर रहे है जो अपने आप में काफी ज़्यादा सख्त है और मानवता के लिहाज से ठीक नही है. हम बात कर रहे है हांगकांग की जहाँ पर चीन ने लोगो को दबाया है और वहाँ पर राष्ट्रीय सुरक्षा क़ानून भी लागू कर रहा है ताकि पूरा उस पर कब्जा कर सके. ऐसे में अमेरिका और ब्रिटेन खुलकर इसके खिलाफ उतरे है.

ब्रिटेन ने दिया 30 लाख होन्ग कोंग के लोगो को अपने यहाँ पर बसने का प्रस्ताव, अमेरिका कम करेगा चीन से बिजनेस
चीन की इस ज्यादती को देखते हुए दुनिया के दो देशो ब्रिटेन और अमेरिका ने उनकी मदद के लिए लीड करने का फैसला किया है और ये दो देश है ब्रिटेन और अमरिका. ब्रिटेन ने प्रस्ताव दिया है कि वो चीन से परेशान 30 लाख होन्ग कोंग के नागरिको को अपने यहाँ पर बसाएगा ताकि चीन इन लोगो को अपने फायदे के लिए आगे चलकर के इस्तेमाल न कर सके.

वही अमेरिका ने तो काफी ज्यादा सख्त आर्थिक कदम उठाया है. होन्ग कोंग में जो हुआ है उसके विरोध में अमेरिका में प्रतिनिधि सभा ने एक नए प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है जिसमे कहा गया है कि अगर कोई भी चीन के अधिकारियो के साथ में बैंक बिजनेस करता है तो उसके खिलाफ भारी भरकम जुर्माना लगाया जाएगा. अब इस प्रस्ताव को सीनेट में जाना है और फिर ट्रम्प तो ऐसे फैसले लेने को तैयार बैठे ही हुए है. इन फैसलों से चीन काफी ज्यादा नाराज हुआ है और आपति भी जताई है.

अगर आपको ये लगता है कि इस मामले पर भारत चुप बैठा हुआ है तो ऐसा नही है भारत ने भी इस मामले में चीन को खूब खरी खोटी सुनाई है और इस तरह की हरकतों की निंदा कर दी है. इस बार से ये साफ़ हो जाता है कि भारत अब चीन के प्रति अपनी नीति को बदल रहा है.