पहले भारत ने बंद किए चीन के कई एप्स, अब अमेरिका ने भी दिया डबल झटका

732

हम लोग देख रहे है कि बीते दिनों में भारत और चीन के बीच में लगातार तनाव बढ़ा है और चीन ने कही न कही इस मामले में अपनी अति दिखाने का हर संभव प्रयास किया है जो कि हर कोई जानता भी है. मगर अब जब ऐसा वक्त है तो डाटा को लेकर के काफी प्रपंच हो रहे है. ऐसे में भारत ने चीन के कई एप्स की पहचान की जो लगातार डाटा चोरी जैसे कई कामो के अन्दर संलिप्त थी जिसके चलते एक बड़ा कदम उठाया गया.

भारत ने एप्स पर लगाया प्रतिबन्ध, तो अमेरिका ने रक्षा उपकरणों के निर्यात पर लगा रहा प्रतिबंध और कम्यूनिस्ट पार्टी के अधिकारियों को वीजा भी नही देगा
आपको मालूम तो होगा कि कल रात ही आईटी मिनिस्टर ने ये घोषणा कर दी कि चीन की 59 एप जिनमे टिक टॉक भी शामिल है उनको बंद किया जा रहा है, अब वो भारत में इस्तेमाल नही हो सकेगी. अब बात सिर्फ यही पर ही नही रूकती है अमेरिका के एक्शन को देखिये वो तो और भी ज्यादा बड़े बड़े है. सबसे पहला फैसला तो अमेरिका ने कम्यूनिस्ट पार्टी के लोगो पर लगाया है.

अमेरिका ने चीन की कम्यूनिस्ट पार्टी जिससे जिनपिंग राष्ट्रपति बने हुए है उस पार्टी के अधिकारियों के वीजा पर अमेरिका ने प्रतिबन्ध लगा दिया है. उन पर मानवाधिकारों का उल्लंघन करने का आरोप लगा है और जो वो करते है उसको वो सही नही मानते है. इसके अलावा अमेरिका ने एक और बहुत ही बड़ा फैसला लिया है जिसे काफी बड़ा डिसीजन माना जा रहा है और वो रक्षा क्षेत्र से जुड़ा हुआ है.

अमेरिका ने अब फैसला किया है कि वो या कोई भी अमेरिकी कम्पनी अब चीन को अमेरिकी आधुनिक रक्षा उपकरण आ फिर तकनीक नही देगा या बेचेगा. ये फैसला चीन की इन दिनों बढ रही हिम्मत को देखते हुए लिया जा रहा है और कही न कही अमरीका के लिए तो चीन वाकई में चिंता का सबब बन गया है.