मोदी के 59 चीनी एप्प बैन करने के बाद चीन के पाँव तले जमीन खिसकी, चीन की सरकार ने दिया बड़ा बयान

1224

हमने हाल ही में भारत की सरकार का एक बहुत ही बड़ा फैसला देखा जिसे करने में भी बहुत ही बड़ा जज्बा चाहिए. भारत की सरकार ने हाल ही में कुल 59 चीनी एप बैन कर दिए जिनमे टिक टॉक जैसा बड़ा एप्प भी शामिल था. ये तो कई मिलियन डॉलर की कम्पनी है. इन पर आरोप लगा कि ये भारत के डाटा को बाहर भेजते है और इसका गलत उपयोग हो रहा है जिसके चलते इनको  बैन किया गया है. अब इसके बाद में चीन की सरकार की तरफ से बयान आया है जिसके बाद में पता चलता है कि इनकी हालत खराब हो गयी है.

चीन बोला, हम हालात की समीक्षा कर रहे है
अभी हाल ही में जो कुछ भी हुआ है उसके बाद में चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने उनकी सरकार की तरफ से जारी बयान में कहा कि हम चीन की कम्पनियों को हमेशा अंतर्राष्ट्रीय कारोबार से जुड़े कानूनों का पालन करने के लिए कहते है. निवेशको के हित की रक्षा करना भारत सरकार की जिम्मेदारी है और ये पैटर्न भारत सरकार के हित में किसी भी तरह से नही है.

चीन ने इसी के सात में अपनी चिंता भी जाहिर की और कहा कि हम इस फैसले से बहुत ही ज्यादा चिंतित है, ये ठीक स्थिति नही है और हम अभी इसकी समीक्षा कर रहे है. चीन का बयान सुनकर के साफ़ हो जाता है कि अभी तो उसके पांवो तले जमीन खिसकी हुई है और उसे समझ ही नही आ रहा है कि आखिर करे तो करे क्या? बोले तो बोले क्या? बात अपने आप में ठीक भी है क्योंकि भारत ने अचानक से स्टेप ही ऐसा ले लिया है जिसे देखकर के साबित हो जाता है कि वो छाहे तो आगे भी बड़े बड़े काम कर सकता है.

अब ऐसे में चीन का समय है कि वो ढीलापन दिखाए और अपने आपको थोडा हल्का करके मार्किट में आये तभी कुछ हो सकता है वरना तो भारत ने दिखा ही दिया है.