अब शरद पवार हुए कांग्रेस के खिलाफ, इस मुद्दे पर खुलकर के दिया मोदी का साथ

265

फ़िलहाल के दिनों में हम सब लोग देख रहे है कि किस तरह से देश भर में एक विशेष तरह का माहौल बना है और चीन को सबक सिखाने के लिए सब लोग सरकार से कह रहे है लेकिन ऐसे वक्त में कांग्रेस और ख़ास तौर पर राहुल गांधी सिर्फ सरकार को ही कोसे जा रह है और तो और वो नरेंद्र मोदी को सरेंडर मोदी तक कह दे रहे है. कोई इसे कूटनीतिक हार बता रहा है तो कोई कुछ कह रहा है. मगर इस मुद्दे पर अब शरद पवार ने खुलकर के बोला है और बीजेपी के पक्ष में बोला है.

आपस में झडप हुई इसका मतलब आप चौकन्ना थे, 1962 को कोई भूल नही सकता
एनसीपी नेता शरद पवार ने भारत चीन मुद्दे पर खुलकर के राय रखी है जिसमे वो कहते है कि चीनी सैनिको ने हमारी सीमा में घुसने की कोशिश की और आपस में धक्का मुक्की हुई ये किसी की भी नाकामी नही है. अगर गश्त के दौरान कोई आपके क्षेत्र में आ जाता है तो ये आपकी नाकामी नही है. अगर आपकी आपस में उनसे झड़प हुई है तो इसका मतलब है कि आप चौकन्ना थे. अगर आप नही होते तो आपको पता ही नही चलता वो कब आये और कब चले गये?

इतना सब कहने के बाद में शरद पवार ने राहुल गांधी के लगाए आरोपों का भी अच्छे तरीके से जवाब दिया है. शरद पवार कहते है कि ये बात कोई नही भूल सकता है कि दोनों ही देशो के बीच 1962 के युद्द के बाद में उन्होंने 45 हजार वर्ग किलोमीटर जमीन पर कब्जा कर लिया था. शरद पवार ने ये राहुल गांधी के उस बयान के जवाब में कहा जिसमे वो उन्होंने नरेंद्र मोदी पर चीन को अपनी जमीन दे देने का आरोप लगाया.

शरद पवार कहते है कि ये राष्ट्रीय मुद्दा है, इस पर राजनीति न और न ही आरोप लगाना सही है. यहाँ पर वो बातो ही बातो में बार बार राहुल गांधी को निशाने पर लेते हुए नजर आए.