केजरीवाल दिल्ली को करोना से बचाने में रहे फेल, अमित शाह ने कण्ट्रोल हाथ में लेते ही बना दिया रिकॉर्ड

391

एक लम्बे वक्त से देश की राजधानी नयी दिल्ली बड़ी परेशानी में है. जिस तरह से करोना के कारण आम लोगो को दिक्कतों पर दिक्कतों का सामना करना पड़ा है वो चिंता की बात है और दिल्ली की केजरीवाल सरकार इसे रोक पाने में नाकामयाब साबित हुई. न तो वो प्रॉपर तरीके से सही संख्या में टेस्ट करवा पा रही थी और न ही सही संख्या में बेड्स उपलब्ध थे जो कही न कही चिंता का विषय रहा. ऐसे में केंद्र की तरफ से अमित शाह ने अपने हाथ में कमान ली और अब वो काफी कुछ देख रहे है.

एक साथ हजारो की संख्या में बेड्स मिले, एक दिन में 21 हजार टेस्ट करने का रिकॉर्ड
वो राजधानी दिल्ली जहाँ पर अस्पतालों में बेड्स की इतनी कमी थी कि लोग यहाँ वहाँ भटक कर थक गये वहां पर महज कुछ ही दिनों के भीतर एक 10 हजार बेड्स वाला अस्पताल खड़ा कर दिया गया. यही नही शाह और केजरीवाल की संयुक्त लीडरशिप में हो रहे काम में अब दिल्ली ने हाल ही में एक दिन में रिकॉर्ड 21 हजार टेस्ट्स कर लिए जो अपने आप में कभी एक वक्त में तो सपना ही था क्योंकि कभी एक टाइम में दिल्ली सरकार दस हजार टेस्ट का आंकड़ा भी अचीव नही कर पा रही थी.

अब अमित शाह से मदद मिलने के बाद में ये आंकड़ा दुगुने से भी ज्यादा चला गया है. अगर मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो अभी दिल्ली में प्रतिदिन टेस्ट्स को 25 हजार करने की कोशिश की जायेगी और डोर टू डोर सर्वे तो हो ही रहा है जिससे ट्रेसिंग करने में अच्छी खासी मदद मिल रही है और यही चीज है जो कही न कही लोगो की मदद भी कर रही है इस बात में कोई शक नही है.

हाँ केजरीवाल ने बार बार इसे अपने सिर्फ अपने नाम से प्रचारित कर इन उपलब्धियों का क्रेडिट लेने की कोशिश जरुर की लेकिन सब लोग जानते है कि ये सब करने के लिए उन्हें शाह के पास जाना पड़ा था और उनकी लीडरशिप में ही इतना सब कुछ अच्छे तरीके से हो सका है.