मोदी सरकार ने चीन को सबक सिखाने के लिये तैयार किया ये नया प्लान

331

इन दिनों में हम लोग देख रहे है की चीन लगातार अपनी असली शक्ल दिखाते जा रहा है जिसके कारण कही न कही आम लोगो ही नही बल्कि सरकार और सेना का दिमाग खराब हो रखा है. अब ऐसी स्थिति में जरूरी है की चीन को स्ट्रेटजी के साथ में जवाब दिया जाए तो फिर उसके लिए भी सरकार काफी हद तक तैयार हो चुकी नजर आ रही है. चलिये जानते है मोदी सरकार ने क्या कुछ मेगा प्लान के तहत करने का निर्णय लिया है और ये किस हद तक कामयाब होगा?

चीन पर आर्थिक निर्भरता कम करेंगे, सैन्य लेवल पर भी देंगे टक्कर
मोदी सरकार का पहला प्लान तो अपने बॉर्डर को सुरक्षित करने का है जिस पर पहले से ही काम चल रहा है जैसे चिनूक, अपाचे, राफेल जैसे जेट्स आ ही रहे है. इसके अलावा एस 400 सिस्टम भी कुछ वक्त में आने को है और नए जनरेशन के मिग और सुखोई भी जल्द ही भारत के पास होंगे जिससे बॉर्डर के मामले में भारत एकदम सुरक्षित होगा. इसके बाद में बारी आती है आर्थिक मोर्चे की.

यहाँ पर सरकार चीन की डायरेक्ट एफडीआई को पहले ही रोक चुकी है. चीनी कम्पनियों को टेंडर नही दिए जा रहे है, जो कॉन्ट्रैक्ट है वो भी खत्म हो रहे है और जो इम्पोर्ट भारत चीन से करता है ख़ास तौर पर फार्मा के क्षेत्र में उन में कटौती करके अब उनको भारत में ही बनाया जायेगा. अगर भारत में ऐसा सस्ती दरो पर हो नही पाता है तो फिर ताइवान, वियतनाम और कोरिया जैसे देशो से आयात किया जायेगा जिससे कि चीन पर निर्भरता कम हो सके.

इसके अलावा चीन के प्रोडक्ट्स पर टैरिफ लगाये जायेंगे ऐसा कहा जा रहा है जिससे चीन भारत के बाजार में अच्छे से कम्पीट ही नही कर सकेगा और अपने आप से ही बाहर हो जाएगा. अब ई कोमर्स को लेकर के भी ये पालिसी बनाने का विचार हो रहा है की जो प्रोडक्ट ऊनकी साईट पर बिक रहा है वो किस देश में बना है इसकी जानकारी देना भी अनिवार्य होगा.