योगी आदित्यनाथ ने दिया अब चीन को तगड़ा झटका, एक फैसले से करोडो का नुकसान

381

आज की तारीख में भारत और चीन के बीच में जिस तरह के सम्बन्ध बने है उसके बाद में कई लोग है जो ये कह रहे है कि अब इनको सबक सिखाने का वक्त आ गया है और कही न कही इसके लिए प्रबंध भी किये ही जा रहे है. केंद्र सरकार अपने स्तर पर नीति बना रही है और साथ ही साथ में राज्य सरकारे भी अब अपने लेवल पर जो हो पा रहा है वो कर रही है. इसी कड़ी में योगी सरकार ने भी काफी बड़ा फैसला लिया है जिसकी घंटी सीधे चीन में बजेगी.

यूपी के बिजली विभाग में नही लगेंगे चीनी उपकरण, स्मार्ट मीटर भी डिपार्टमेंट से बाहर
योगी सरकार ने फैसला किया है कि जो यूपी के बिजली विभाग द्वारा स्मार्ट मीटर लगाये जाने थे जो कि चीन के बने थे चीनी कम्पनी के थे वो अब नही लगेंगे. ये करोडो रूपये का कॉन्ट्रैक्ट था जो अब नही है यानी चीन को सीधे तौर पर करोडो रूपये का नुकसान ही हुआ है इसके साथ में चीन को अब यूपी के बिजली विभाग में तीली लगाने तक का काम नही मिलेगा जो उनकी कम्पनी के लिए काफी बुरा साबित हो सकता है.

मोदी सरकार भी चीनी कम्पनियों को खदेड़ने के लिए तरह तरह से काम कर रही है. महाराष्ट्र में कई प्रोजेक्ट है जो कैंसिल किये गये है. रेलवे ने भी अपने कई कॉन्ट्रैक्ट रद्द किये है और तो और बीएसएनएल और एमटीएनएल में चीनी उपकरण रोकने के साथ में चीन को भारत के टेलिकॉम सेक्टर से भी बाहर करने की शुरुआत हो गयी है.

अगर ये चीजे एक लम्बे वक्त तक चलती है तो चीन को कई बिलियन डॉलर का नुकसान होने की संभावना है और फिर उसी मांग को पूरा करने के लिए भारत में प्रोडक्ट्स बनेंगे जिस पर काफी हद तक फायदा होगा और मेक इन इंडिया मजबूत होगा. हाँ इसके लिए थोडा इन्तजार जरुर करना पड़ेगा.