लद्दाख मामले में भारत की बड़ी कामयाबी, चीन ने लिया ये फैसला

618

भारत और चीन के बीच में एक लम्बे समय से लद्दाख मामले पर काफी समस्या चल रही है और गलवान घाटी में इसी के कारण जो कुछ भी हुआ तो वो तो सब लोग अच्छे तरीके से जानते है. यही नही अब जो हुआ है वो तो कही न कही लोगो को भी हैरान कर रहा है कि भला भारत जैसे देश के सामने चीन ने इतनी हिम्मत कैसे कर ली? लेकिन अब गलवान में जो हुआ और जो नुकसान चीन ने झेला है उससे उसने काफी बढ़िया सबक सीख लिया है.

सैन्य वार्ता सकारात्मक दिशा में बढ़ी, चीन अब पीछे हटेगा
भारत और चीन के उच्च स्तर के अधिकारियों में बैठक हुई जिसमे भारत ने जो किया है उसके बाद में उस पर मोवैज्ञानिक दबाव काफी हद तक बढ़ा है और इसके बाद में चीन ने फैसला किया है कि हाँ वो पीछे हटने पर राजी है. यानी अब चीन एलएसी को छोडकर के अपनी सीमा में वापिस लौट जाने पर राजी हो गया है. ये एक सकारात्मक बात कही जा सकती है क्योंकि आम तौर पर ऐसा कम ही होता है जब चीन  इस तरह से वापिस लौटने पर हामी भरे.

मगर अभी भी उस पर भरोसा नही किया जा सकता है . चीन जब तक पूरी तरह से वापिस बॉर्डर के अन्दर नही लौट जाता है तब तक भारतीय सेना भी उसे रोकने के लिए डटी रहेगी. ख़ास तौर पर इजरायल के बने हुए हाई टेक ड्रोन है जो चीन पर नजर रख रहे है. इस चीन जाहिर तौर पर काफी ज्यादा असहज तो होता है लेकिन फिर भी ये करना कही न कही जरुरी हो जाता है जब चीन को पीछे की तरफ धकेलना हो.

इसे भारत की एक बड़ी कामयाबी कहा जा सकता है कि चीन अब पीछे हटने पर राजी हुआ है. हालांकि ये सब होना इतना आसान भी नही था. इसके लिए काफी जवानो ने अपनी जान को दांव पर लगाई है और कूटनीतिक स्तर पर जो प्रयास हुए है वो और अलग है.