चीन को घेरने की तैयारी पूरी, मोदी ने राजनाथ सिंह को ख़ास मकसद से रूस भेजा

287

भारत और चीन के बीच में जो तनाव बढ़ा है उसके बाद में एक बात तो कही न कही साफ़ ही है कि दोनों ही देश आपस में भविष्य में क्या कर दे इस बात को लेकर के कोई भी कुछ भी नही कह सकता है. अब ऐसे वक्त में पाक को भी टेकल करना है और अपने समुद्री इलाको को भी सुरक्षित रखना है तो ऐसे वक्त में जरूरी है कि हमारी फोर्सेज मजबूत हो और इसी मकसद से पीएम मोदी ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को रूस भेजा है जिसके बाद में काफी कुछ बदल जाएगा.

विजय दिवस परेड में शामिल होंगे और सेना से जुड़े सौदे जल्दी करने की कोशिश करेंगे
रूस का इस बार 75वा विजय दिवस परेड का उत्सव है जिस पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह वहाँ पर शामिल होंगे. वो तीन दिन के रूस दौरे पर होंगे और उनका समय मोस्को में बीतने वाला है. रिपोर्ट्स की माने तो राजनाथ सिंह वहां पर किसी राजनीतिक काम से नही बल्कि अपने सौदों को तेजी से खत्म करने के लिए गये है जो एक अच्छा कदम कहा जा सकता है.

सबसे पहला काम तो वो एस 400 सिस्टम को लाने का करेंगे. इसकी डिलीवरी जल्द ही हो जानी चाहिए थी लेकिन महामारी के चलते हुए ये लेट हो रहा है. अगर ये सिस्टम भारत को मिल जाता है तो भारत की सीमा में कोई भी मिसाइल घुसते ही खत्म हो जायेगी क्योंकि ये उसे हवा में ही गिरा देता है. इसके अलावा भारत रूस से नए मिराज और सुखोई भी लेने वाला है ताकि एयरफ़ोर्स की क्षमता को और अधिक बढ़ाया जा सके.

राजनाथ सिंह के इस रूस दौरे से भारत को काफी सारे फायदे होने जा रहे है और इससे चीन भी घबरा रखा है कि अगर मोदी सरकार जो चाहती है वो करने में सफल हो जाती है तो फिर ये अपने आप में एक बड़े लेवल का काम हो सकता है इस बात में कोई भी शक नही है.