कांग्रेस को एक और बड़ा झटका, शाह ने बीजेपी को दिया नया मुकाम

2125

जबसे साल 2014 आया है उसके बाद से लगातार कांग्रेस की उलटी गिनती चालू है और कही न कही इस कारण से बीजेपी को भी भारी बढ़त मिलती जा रही है. लगातार दो बार केंद्र में बहुमत की सरकार बनना और फिर एक से एक बड़े राज्यों में भी भाजपा ने अपनी सत्ता कायम की है जो अपने आप में एक अच्छी बात है लेकिन अब बारी आती है राज्य सभा की जहाँ पर भी बीजेपी कांग्रेस से एक दो कदम नही बल्कि कोसो आगे निकल गयी है और ये उनके लिए एक पोजेटिव संकेत है.

बीजेपी अब राज्यसभा में बहुमत के करीब, कांग्रेस पीछे खिसकी
अगर हम बात करे सदनों की तो लोकसभा में तो बीजेपी के पास में कुल बहुमत है लेकिन राज्यसभा में हालत थोड़ी ठीक नही है. हाँ लेकिन हाल ही में जो हुआ है वो एक पोजेटिव संकेत माना जा सकता है. राजसभा में कुल 245 सीट्स है जिसमे से बहुमत हासिल करने के लिए 123 सीट्स की जरूरत पडती है. अब हाल ही में हुए चुनावो के बाद में एनडीए के सदस्यों की संख्या राज्य सभा में बढकर के 90 से 101 हो गयी है जबकि कान्ग्रेस की संख्या घटी है.

ऐसा बीजेपी के इतिहास में पहली बार हुआ है जब वो राज्य सभा में 100 के आंकड़े को पार कर पायी है. अब बहुमत को हासिल करने के लिए भाजपा को महज 22 सीट की और जरूरत है जो अगले एक से दो साल में मिल जाने की संभावना है. अगर ऐसा होता है तो साफ़ तौर पर बीजेपी दोनों ही सदनों में बहुमत में आ जाएगी और फिर उनके लिए कोई भी फैसला लेना, बिल पास करवाना या क़ानून बनाना चुटकियो का खेल हो जाएगा. ये कही न कही सारी राजनीतिक शक्ति एक पार्टी में केन्द्रित कर देगा.

हालांकि नब्बे के दशक से पहले तक हर तरफ कांग्रेस का ही बोलबाला था और राज्यसभा में भी उनकी ही चलती थी लेकिन वक्त बदलने के साथ में बीजेपी ने अपना राज कायम कर लिया है.