चीन से लड़ते हुए शहीद हुए जवान सुनील कुमार को लेकर मनोज तिवारी ने किया बड़ा ऐलान

413

भारत और चीन के बीच में लद्दाख में जो कुछ भी हुआ है वो बिलकुल भी अच्छा नही था क्योंकि अपनी मात्रभूमि की रक्षा करते हुए 20 जवान चले गये है और उनके जाने से देश भर में गुस्सा है, नाराजगी है और कई लोग है जो इनके सामान न खरीदने की बात भी कर रहे है लेकिन ऐसे बहुत ही कम लोग है उन परिवारों की बात कर रहे है जिनका ये जवान सहारा हुआ करते थे और जिनके लिए इन्होने काम किया जिनके लिए ये रिटायर होकर के घर जाने वाले थे. मगर तिवारी जी इनके लिए सोचते हुए नजर आ रहे है.

सुनील कुमार के बच्चो की पढ़ाई की जिम्मेदारी लेंगे, परिवार से मिलने भी जायेंगे
भारतीय जनता पार्टी के नेता और बीजेपी दिल्ली के पूर्व अध्यक्ष मनोज तिवारी ने ऐलान किया है कि वो गलवान घाटी में शहीद हुए सुनील कुमार के बच्चो की पढ़ाई का सारा का सारा खर्च उठाएंगे और उनको पूरी तरह से जितना भी हो सके ऊतना सपोर्ट देंगे. यही नही वो 22 जून को उनके परिवार से मिलने और ऊनको सांत्वना देने के लिए भी जायेंगे.

मनोज तिवारी के इस कदम की जमकर के सराहना हो रही है. वो मूल रूप से बिहार से ही आते है और बिहार के लोगो के लिए वो अक्सर मदद करने की कोशिश करते रहे है. हालाँकि दिल्ली के लोगो को उनकी राजनीति कुछ ख़ास रास नही आयी थी जिसके चलते पिछले दिनों में उनको बीजेपी दिल्ली के अध्यक्ष पद को छोड़ना पड़ा. हालांकि वो सांसद तो अब भी है और उनका राजनीतिक करियर का ग्राफ फ़िलहाल धीमे धीमी ही सही लेकिन ऊपर और आगे जा रहा है.

गलवान घाटी में जो जवान शहीद हुए है उनके लिए सरकार भी अपनी तरफ से जो भी हो पा रहा है वो कर रही है और उनके परिवारों को ऐसा महसूस नही होने दिया जायेगा कि अब वो बिलकुल ही बिना सहारे के हो गए है.