लद्दाख में चीन की हरकतो को भूलकर उद्धव ठाकरे ने चीन के साथ साईन कर दी इतनी बड़ी डील

975

हम लोग देख ही रहे है कि लद्दाख में चीन ने किस किस तरह की हरकते की है. इसमें हमारे सेना के कुल 20 जवान चले गये और इसका दुख पूरे देश को है और देश भर में एक तरह से लोगो के मन में तरंग है कि अब आत्मनिर्भर भारत बनाना ही बनाना है ताकि भारत की चीन पर निर्भरता को कम किया जा सके. सरकार ने टेलिकॉम सेक्टर में इसे लेकर के कदम भी उठाए लेकिन शायद ठाकरे सरकार को इस बात से कोई ख़ास फर्क नही पड़ता है, उनका हाल ही का फैसला तो ऐसा ही कुछ दर्शा रहा है.

चीनी कम्पनी ग्रेट वाल मोटर्स के साथ उद्धव सरकार का करार, करेगी 7600 करोड़ का निवेश
भारत लगातार कोशिश कर रहा है कि चीन पर अपनी अर्थव्यवस्था की निर्भरता को कम किया जाये लेकिन इससे बेखबर उद्धव ठाकरे सरकार ने इसे और ज्यादा बढ़ा दिया है. रिपोर्ट के अनुसार महाराष्ट्र सरकार और चीन की कम्पनी ग्रेट वाल मोटर्स के बीच में एक डील साईन हुई है जिसके बाद में अब ये कम्पनी महाराष्ट्र में 7600 करोड़ रूपये का निवेश करेगी और इससे 3 हजार लोगो को रोजगार देगी.

ये वही उद्धव ठाकरे सरकार है जिसने जापान के साथ चल रहे बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट को रोक दिया था जिससे लाखो नौकरियाँ आ सकती थी और अब वही सरकार एक छोटे से नम्बर की नौकरी के लिए एक और चीनी कम्पनी को यहाँ पर बसाने की पूरी प्लानिंग कर रही है. ये काफी ज्यादा हैरान करने वाला है. खैर जो भी है अब सरकार है तो अपने हक से फैसले ले भी सकती है.

इसके अलावा ठाकरे सरकार ने एक और चीनी कम्पनी हेन्गली इंजीनियरिंग के साथ भी 250 करोड़ रूपये का करार किया है जिस पर सवाल करते हुए कई लोग पूछ रहे है कि क्या उनको करार करने के लिए सिर्फ चीनी कम्पनी ही मिल रही है और बुलेट ट्रेन जिसमे जापान काम करना चाह रहा था उसे दूर धकेल दिया.