चीन और भारत के बीच जो हुआ, उसके बाद अमेरिका का बड़ा बयान आया है

1187

एक लम्बे वक्त से भारत और चीन के बीच में हालात सामान्य नही है. ये कहना गलत तो बिलकुल भी नही होगा कि स्थितियां बिगड़ी ही है और ये चिंता की बात है. अब हाल ही में लद्दाख में हुए संघर्ष को ही देख लीजिए. भारत को अपने कई जवानों को खोना पडा है. ऐसी स्थिति में चीन को किसी न किसी तरह भगाया जा रहा है. अब क्योंकि भारत और चीन दोनों ही शक्तिशाली देश है तो ऐसे में कोई नही चाहता है कि मामला आगे बढे. अमेरिका ने भी इस मामले में ऐसा ही कुछ कहा है.

अमेरिका ने दिया शान्तिपूर्ण समाधान को समर्थन, ट्रम्प ने चर्चा भी की थी
अब जो भी हुआ है उन हालातो पर अमेरिका ने बयान जारी करते हुए कहा है कि पहले भारत और चीन दोनों ने ही पीछे हटने की इच्छा जाहिर की थी और हम ऐसे वक्त में शान्तिपूर्ण रूप से समाधान का समर्थन करते है. हम एलएसी पर भारत और चीन की सेनाओं के हालात को अच्छे से मोनिटर कर रहे है. हमे ये जानकारी भी मिली है कि भारत ने अपने 20 जवानो के श’हीद होने का ऐलान किया है. हम उनके परिवार के लोगो को सांत्वना देना चाहते है.

अमेरिका के अलावा संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी दोनों ही देशो से संयम बरतने की अपील की है ताकि वैश्विक शान्ति को बहाल रखा जा सके. यही बात नेपाल और रूस भी कह रहे है कि शान्ति के साथ में हल किया जाना चाहिए. अब भारत और चीन दोनों ही देसों पर इंटरनेशनल दबाव क्रिएट हो गया है और ख़ास तौर पर चीन पर क्योंकि नियमो का उल्लंघन तो उसने किया है और ऐसे में उसकी एक हरकत उसे काफी बुरे परिणाम दिखा सकती है.

हालांकि भारत फिर भी अपने लेवल पर तैयारी कर रहा है. रक्षामंत्री लगातार सीडीएस और तीनो सेनाओं के प्रमुखों से बातचीत में है और मीटिंग पर मीटिंग हो रही है जिससे पता चलता है कि इनको अब एक इंच भी आगे बढ़ने नही दिया जाएगा.