महाराष्ट्र की गठबंधन सरकार में पड़ी दरार, टेंशन में उद्धव ठाकरे ने लिया ये फैसला

4874

देश की आर्थिक राजधानी यानी मुंबई इन दिनों में बड़ी ही बुरी हालत से गुजर रही है. पिछले एक वक्त से जिस तरह से कोरोना का प्रकोप आया और फिर इसके बाद में महाराष्ट्र में निसर्ग तूफान भी आया जिसने सरकार की जडे हिलाकर के रख दी और अब खबर आ रही है कि महाराष्ट्र में सरकार में भी काफी बड़ी दरार पड़ गयी है और इसके पीछे का कारण कई लोगो का अपने आपको अलग थलग टाइप महसूस करना है जो ठाकरे की कुर्सी गिरने का कारण भी बन सकती है.

कांग्रेस नेता अपने आपको अलग थलग कर रहे है महसूस, पार्टी के अन्दर नाराजगी
अभी हाल ही में महाराष्ट्र में जो भी बड़े काम हुए है उनमे कांग्रेस के नेताओं को ज़रा भी तवज्जो नही दी जा रही है और इसी कारण से प्रदेश कांग्रेस में नाराजगी है. मीडीया रिपोर्ट्स के दावे में कहा गया है कि ऐसा खुद एक कांग्रेस के नेता ने कहा है.  उनका कहना है कि पार्टी में बड़ी ही भारी नाराजगी है. वो इस बात को पहले तो उद्धव ठाकरे से बातचीत करके मामले को सुलझाना चाहेंगे.

अब अगर मामला सुलझता नही है और अगर कांग्रेस या फिर एनसीपी दोनों में से कोई भी एक पार्टी अपना समर्थन खींच लेती है तो इतना तो साफ है कि सीधे सीधे राज्य सरकार गिर जायेगी और ये बात समझ लेनी किये कि ये गठबंधन वाली सरकारे हो या फिर राजनीति हो सिर्फ फायदे के काम आती है इससे जनता का लॉन्ग टर्म में भला हो नही सकता है.

ये कहा जा रहा है कि उद्धव ठाकरे को जब इस मामले के बारे में पता चला तो उन्होंने बात करके चीजे नार्मल करने का फैसला किया है लेकिन ये चीज ठीक कर करके भी कब तक की जाएगी. अगर आप लोगो के बीच में कोई अच्छी अंडरस्टैंडिंग न हो तो फिर हाल ऐसा होना ही है और जाहिर तौर पर होना है इस बात में कोई भी शक नही है.