पीएम मोदी करेंगे एक बार फिर मुख्यमंत्रियों से चर्चा, बड़े ऐलान के संकेत

1596

आज देश जिस तरह के माहौल से गुजर रहा है वो अपने आप में काफी तकलीफों से भरा हुआ है. सरकारे बेबस है और आम आदमी की तो हालत ही खस्ता हो रखी है जो कि हम लोग देख ही रहे है. मगर हाल ही में एक बार फिर सरकार ने अर्थव्यवस्था को चालू करने के लिहाज से 8 जून से अनलॉक लागू किया था, पर चिंता एक ये भी है कि देश में केसों की संख्या काफी द्रुत गति से बढ़ रही है जो अपने आप में चिंता में डालती है जिस पर फैसले लेने की जरूरत है.

16 और 17 जून को मुख्यमंत्रियों से चर्चा करेंगे पीएम मोदी, भविष्य की रणनीति बनेगी
अब जब देश की स्थिति और ज्यादा बिगड़ रही है तो हालात को ठीक से समझने के लिहाज से और सही फैसला लेने के मकसद से पीएम मोदी ने एक बार फिर से मुख्यमंत्रियो से चर्चा करने का फैसला किया है जिसमे से आधे मुख्यमंत्रियों से वो 16 जून को और आधे मुख्यमंत्रियो से 17 जून को बात होगी. इसे दो दिन में इसलिए बांटा गया है क्योंकि अधिक लोगो से ठीक से बाते मेनेज नही हो पाती है, इस वजह से बैठको का दौर दो दिन तक चलेगा.

अब एक सवाल ये भी है कि आखिर दुबारा मीटिंग्स की जरुरत क्यों पड़ी है? तो इसके पीछे का कारण है अब देश में केसेज की संख्या 3 लाख पार करने जा रही है और कई शहर जैसे मुंबई और दिल्ली आदि में तो हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर पूरी तरह से दबाव में जा चुका है. लोगो का इलाज घर पर ही करने पर मजबूर है तो ऐसे में सरकारो को क्या प्राथमिकता पर रखना है? सारा फोकस केसेज को कम करने पर ही लगाये या फिर साथ ही साथ में इकॉनमी को भी रन करे.

इन सब चीजो पर आने वाले वक्त में जो भी फैसला केंद्र लेगा उसमे राज्यों की राय भी शामिल होनी जरूरी है और इसी वजह से ये मीटिंग की जा रही है. उम्मीद तो लोगो को है कि इससे एक सकारात्मक परिणाम निकलेगा.