चीन से चिपक रहे नेपाल की सरकार को योगी आदित्यनाथ दे दी बड़ी चेतावनी

698

आजकल के वक्त में नेपाल का मिजाज कुछ बदला बदला सा नजर आ रहा है और इसके कारण भारत और नेपाल के बीच में जो द्विपक्षीय सम्बन्ध है वो भी बिगड़ते नजर आते है. आपको मालूम तो होगा ही कि पिछले कुछ वक्त में नेपाल की सरकार ने क्या कुछ किया है? पहले तो भारत के इलाको को नेपाल के नक़्शे में दिखाना, फिर अपनी आर्मी तैनात करना और अनावश्यक बयानबाजी करना. ऐसे में सब लोग शांत थे और छोटा समझकर भूल जा रहे थे लेकिन योगी जी ने इन्हें चेताना सही समझा.

नेपाल अगर नही चेता, तो उसे तिब्बत का उदाहरण याद कर लेना चाहिये
योगी आदित्यनाथ की एक विशेषता है वो जब भी कोई बयान देते है तो उसमे कोई लाग लपेट नहीं करते है. बस जो कहना होता है कह ही देते है. अब हाल ही में जब वो पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे तो उन्होंने नेपाल पर भी बयान दे दिया. योगी कहते है कि भारत और नेपाल के रिश्ते तो सदियों पुराने है जो सीमा की बंदिशों से तय नही किये जा सकते है. हम दोनों ही देश सांस्कृतिक रूप से बड़े ही मजबूत राष्ट्र है.

इसके बाद मे योगी जी ने नेपाल को चेताया और कहा कि नेपाल की सरकार को हमारे साथ में रिश्तो के आधार पर ही कोई फैसला करना चाहिये. अगर वो अब भी नही चेते तो उनको तिब्बत का हाल याद कर लेना चाहिये. अगर आपको जानकारी न हो तो तिब्बत कभी एक स्वतंत्र देश हुआ करता था जिसने चीन पर भरोसा करके उसे अपने अन्दर एक्सेस दिया जिसके बाद चीन ने धीरे धीरे करके उनके पूरा देश ही कब्जा लिया और वहां के हेड ऑफ स्टेट यानी दलाई लामा को भारत में आकर के शरण लेनी पड़ी.

ये स्थिति काफी ज्यादा गंभीर है जिसमे लोग इस बात को तो समझते ही है कि नेपाल जो भारत का बड़ा करीबी है उसे चीन के बहकावे में नही आना चाहिए वरना इतिहास में जो हुआ वो तो सब लोग जानते ही है.