मध्य प्रदेश के बाद कांग्रेस को एक और राज्य में लगा झटका, पड़ सकता है भारी

965

कांग्रेस पार्टी फ़िलहाल के समय को अगर हम देखे तो अपना अस्तित्व को बचाने के लिए जूझ रही है और ये बात वाकई में सच भी है क्योंकि जिस तरह से जिस गति से कांग्रेस अलग अलग राज्यो से साफ़ होती चली गयी वो अपने आप में एक अजूबा ही है. अब हाल ही की बात ले लो, कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में सत्ता पाकर के भी बाद में गँवा दी और बीजेपी अपनी राजनीतिक परिपक्वता के चलते फिर से कुर्सी पर काबिज हो गयी. अब एक और राज्य में कांग्रेस के साथी हाथ छोड़कर के जा रहे है.

गुजरात में 2 कांग्रेस विधायको का इस्तीफा, राज्य सभा चुनावों में पड़ेगा भारी
गुजरात में राज्यसभा चुनावों का ऐलान हो गया है जिसमे विधायक मिलकर के राज्य से राज्य सभा के लिए सदस्य भेजते है. इसी ऐलान के ठीक बाद में कांग्रेस पार्टी के 2 विधायको ने इस्तीफा दे दिया. इससे कांग्रेस राज्य सभा के चुनावों में जीतने की संभावना गिर जाएगी और बीजेपी अपने ज्यादा सदस्य राज्यसभा में भेज सकेगी. आपको बता दे कि अब कुछ वक्त पहले ही गुजरात में आधा दर्जन के आस पास और विधायक भी है जिन्होंने कांग्रेस पार्टी का दामन छोड़ा था जिसमे दो और शामिल हो गये है.

बीजेपी के लिए ये चीज बड़ी अहम् है क्योंकि चाहे अभी केंद्र में भाजपा है लेकिन कोई भी बिल मनमर्जी से पास करवाने के लिये अभी भी भाजपा के पास में पूर्ण बहुमत नही है उसे अपने सहयोगी दलों की मदद लेनी ही पडती है और कई बार ये कम पड़ जाता है जो की दिक्कत खड़ी करता है इसलिए बीजेपी की कोशिस रहती है कि जितने हो सके उतने अपने राज्य सभा में मेंबर बढाए जाए और यही तेजी से काम करने की कुंजी भी है.

अगर आपको मालूम हो तो तीन तलाक और अनुच्छेद 370 जैसे फैसलो में भी अन्य दलों के समर्थन के कारण भाजपा को सफलता मिली थी. अगर बीजेपी राज्य सभा में भी बहुमत में आने वाले वक्त में भरपूर मात्रा में आ जाती है तो मोदी सरकार को कोई भी फैसला लेने से रोकना नामुमकिन होगा.