सत्ता जाते ही आपस में भिड़े कमलनाथ और दिग्विजय सिंह, सामने आया पूरा मामला

370

जब से सिंधिया ने कांग्रेस पार्टी का साथ छोड़ा है तब से ही लगातार एक चीज है जो लम्बे समय से सामने आई है और वो ये है कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी बिखराव की स्थिति में चली गयी है. गुटबाजी तो यहाँ पर पहले से ही थी और अब इस हालत में तो ये और भी ज्यादा बढ़ गयी है. खबरे आ रही है कि अन्दर ही अन्दर कमलनाथ और दिग्विजय सिंह एक दुसरे के आमने सामने हो रखे है. ऐसे में कमलनाथ का पलड़ा तो वैसे भी भारी ही है.

नेता प्रतिपक्ष के चुनाव को लेकर के भिड़े दोनों, सत्ता जाने के समय से भी चल रही थी तनातनी
अब हाल ही में खबर आई है कि दोनों ही नेता अपने अपने पसंद के व्यक्ति को मध्य प्रदेश में नेता प्रतिपक्ष बनाने को लेकर के आमने सामने है. दरअसल कमलनाथ चाहते है कि बाला बच्चन को नेता प्रतिपक्ष बनाया जाए जो कि गृह मंत्री भी रह चुके है वही दूसरी तरफ दिग्गी राजा की चॉइस वरिष्ठ नेता गोविन्द सिंह है जिनको वो नेता प्रतिपक्ष बनाना चाहते है. इस बात को लेकर के गुटबाजी चल रही है और दोनों ही नेता आमने सामने हो रखे है.

वैसे ये चीज अभी हाल ही में हुई हो ऐसा भी नही है. जब कांग्रेस को पार्टी एमएलए छोड़कर के जा रहे थे तब ही दिग्विजय सिंह को ये जिम्मा दे दिया था गया कि वो इनको रोके. इस पर दिग्गी राजा अंत पलो तक यही भरोसा देते रहे कि कुछ नही होगा लेकिन हुआ इसका उल्टा जिसके बाद में बताया जाता है कि कमलनाथ और दिग्विजय के बीच ट्रस्ट इशूज भी हो गये. कमलनाथ ने ये बाते एक अनौपचारिक बातचीत में कही थी लेकिन मामला बढ़ता देख उन्होंने ऐसा कुछ होने से ही इनकार कर दिया.

अब मामला जो पार्टी के अन्दर होता है उसे पहले तो छुपाने की कोशिश की ही जाती है जैसे सिंधिया के मैटर को शुरू में छुपाने की कोशिश हुई लेकिन आखिरकार चीजे बार आ ही जाती है.