ममता बनर्जी ने कर दिया बड़ा ऐलान, बीजेपी उतरी विरोध में

408

इन दिनों देश भर में जैसी स्थिति बनी हुई है उसमे कही न कही लॉक डाउन लम्बे वक्त से चल ही रहा है. इस बात को दो महीने से भी अधिक का वक्त बीत गया है जिसके चलते लोगो को दिक्कत तो हो ही रही है. अब ऐसे में देश भर के अलग अलग राज्य 1 जून से क्या कुछ बदलाव करने है उस पर काम कर रहे है और अपनी अपनी तरफ से गाइडलाइन्स तैयार कर रहे है. ऐसे में ममता बनर्जी ने एक ऐसा विवादास्पद फैसला ले लिया है जिसके बाद में बंगाल में रिस्क और ज्यादा बढ़ जायेगा.

ममता ने 1 जून से सारे धार्मिक स्थल खोलने की छूट दी और दफ्तर भी खुलेंगे, बीजेपी ने किया विरोध
श्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ऐलान किया है कि अगले महीने की एक तारिख से सारे बंगाल में धार्मिक स्थल जो सभी धर्मो से है उनको खोलने की अनुमति है लेकिन साथ ही साथ में ममता ने ये शर्त भी रखी है कि यहाँ पर एक बार में दस लोगो को ही जाने की अनुमति मिलेगी और सम्पूर्व सेनेटाइजेशन की व्यवस्था भी की जानी चाहिए.

ममता सरकार के इस फैसला बीजेपी ने विरोध किया है और कहा है कि अभी बंगाल में इस तरह की स्थिति बनी हुई है जो बहुत ही ज्यादा खराब है और ऐसे में धार्मिक स्थलों को खोलने पर भीड़ का जमावड़ा हो सकता है और इससे संक्रमण फैलने का खतरा भी बना रहेगा इसलिए जरूरी है कि ममता बनर्जी इस तरह के फैसले लेने की बजाय अभी उन चीजो पर ध्यान दे जो बंगाल के लोगो की जीवन में बेहद जरूरी है, जो लोगो की नौकरी उनके रोजगार और उनके व्यापार को फिर से स्थापित कर सके.

हालांकि अभी तक इस पर ममता सरकार ने कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया है लेकिन इतना साफ है कि अगर ऐसा होता है तो बंगाल के लोगो पर रिस्क और बढ़ सकता है. अभी कुछ समय और रूक जाने की जरूरत तो थी.