योगी आदित्यनाथ ने ऐसा प्लान बना दिया, जो भविष्य में मुंबई को पीछे छोड़ सकता है

377

अब हाल ही में ऊत्तर प्रदेश के लिएय काफी ज्यादा दिक्कत का समय चल रहा है क्योंकि लाखो की संख्या में प्रवासी मजदूर है जो बहुत सारे शहरो से वापिस लौट रहे है और ये अपने आप में काफी बड़ी बात भी है क्योंकि इसी के आधार पर योगी आदित्यनाथ अब यूपी को पुराना यूपी रखने की बजाय भविष्य का प्रदेश बनाना चाह रहे है और इसके लिए उनका सबसे बड़ा फोकस इन दिनों जेवर इलेक्ट्रॉनिक सिटी पर है जो काफी हद तक बड़े बदलाव का संकेत है.

जेवर में बन रहा देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट, आस में बनेगी नॉएडा से सटी इलेक्ट्रॉनिक सिटी उत्तर प्रदेश के पास इन दिनों में जो एडवांटेज है वो अब देश के किसी राज्य के पास नही है. सबसे पहला तो देश का सबसे बड़ा एअरपोर्ट बन रहा है जो दिल्ली से महज 100 किलोमीटर के करीब दूरी पर है जबकि नॉएडा से लगभग सटा हुआ है. ये न सिर्फ यात्री परिवहन को बढ़ाएगा बल्कि एक्सपोर्ट में भी एक अहम् भूमिका निभा सकता है. इसी एअरपोर्ट के आस पास बहुत ही बड़े लेवल पर जमीने खाली है जहाँ पर बिल्डर कंस्ट्रक्शन का काम दबाकर के कर रहे है.

यहाँ पर कई गगनचुम्बी अपार्टमेंट्स आर फाइव स्टार होटल्स बन रही है, चीन से जो कम्पनियां यूपी में शिफ्ट होने की प्लानिंग कर रही है उनके लिए यहाँ पर एक बेहतरीन जमीन और इन्फ्रास्ट्रक्चर मौजूद है क्योंकि ये जगह नॉएडा और गाजियाबाद से लगभग सटी हुई है. कुल मिलाकर के यहाँ पर चार शहर नॉएडा, गाजियाबाद, ग्रेटर नॉएडा और जेवर इलेक्ट्रॉनिक सिटी एक साथ एक दुसरे से चिपके हुए है. यहाँ पर बेहिसाब जमीन है, सस्ती लेबर है, लोगो के पास इन्वेस्ट करने के लिये पैसा है और चीन से आ रही कम्पनीज तो है ही, ऊपर से जेवर में देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनने जा रहा है.

मुंबई से अगर इसकी तुलना करे तो इकॉनमी के लिहाज से ये काफी पीछे नजर आएगा क्योंकि मुंबई के पास पोर्ट का एडवांटेज है लेकिन भविष्य में ये कब एक ट्रांसफोरमेशन करे और कब ये मुंबई के टक्कर में पहुँच जाए कुछ कहा नही जा सकता है.