पहले लद्दाख तक आया और अब बैकफुट पर चीन, मोदी ने दिखायी आँख तो यू टर्न मार दिया ये बयान

569

इन दिनों भारत और चीन के बीच में काफी ज्यादा दबाव के साथ आमना सामना हो रहा था और ऐसा क्यों रहा था? ये बात तो सब लोग बड़े ही अच्छे तरीके से जानते है. दोनों ही देशो के बीच में लद्दाक पर सीमा को लेकर के विवाद चल रहा था और इसे लेकर के दोनों देशो की सेनाएं भी आमने सामने हो गयी. बात इतनी तक बढ़ गयी कि ट्रम्प ने भी इस मामले में मध्यस्थता की पेशकश कर दी, चीन ने युद्ध की बाते शुरू कर दी थी लेकिन अचानक से अब चायना के रूख में अलग ही बदलाव आ गया है.

भारत ने बढ़ाई अपनी सुरक्षा तो बात से पीछे हटा चीन, कहा हमारा कोई विवाद नही
चीन ने लद्दाख के सामने अपने टेंट गाढे थे तो इस पर मोदी सरकार ने भी पीछे हटने से बेहतर समझा कि चीन को सबक सिखाया जाए और भारी संख्या में सेना बल तैनात कर दिया. ऐसा होने पर दोनों देशो के बीच टेंशन बढ़ने लगी. मगर मोदी सरकार ने एक इंच भी पीछे हटने से इनकार कर दिया तो चीन अपने आप ही बैकफुट पर आ गया.

चीन के विदेश मंत्रालय ने अपने अभी के जारी बयान में कहा है कि हमारे और भारत के बीच में कोई भी सीमा विवाद नही है. दोनों देशो के बीच में जो भी टेंशन है उसे बातचीत के जरिये सुलझाया जा सकता है. हमारे पास में बातचीत करने के लिए उपयुक्त संसाधन और सब कुछ है. चीन ने अपनी तरफ से कहा है कि अभी लद्दाख बॉर्डर पर जो भी चल रहा है उसे वो बातचीत के जरिये ही सुलझाना चाहता है. इसी से साफ़ तौर पर मालूम चलता है कि भारत और चीन के बीच में जो भी मामला है वो बात से ही सुलझ जाएगा.

रही बात लड़ाई की तो ये बात चीन भूलकर के भी नही करेगा क्योंकि उसे मालूम है कि भारत अब वो पहले वाला भारत नही रहा है जिसके पास साधनों की कमी थी. अब इंडिया चाहे तो किसी को भी पीछे धकेल सकता है.