राहुल ने उद्धव ठाकरे को बीच रास्ते में फंसाया, दे दिया महाराष्ट्र में सरकार पर ये बड़ा बयान

609

इन दिनों महाराष्ट्र की सरकार में जो अस्थिरता है वो साफ़ नजर आ रही है. अब शरद पवार या उद्धव ठाकरे या फिर संजय राउत इसे ढकने की या फिर छुपाने की कितनी ही कोशिश क्यों न कर ले? सच आखिर कार बाहर आ ही जाता है और इस बार कांग्रेस पार्टी ने ऐसा ही कुछ कर दिया है. अब आखिर ऐसा हुआ क्या और ये सब बवाल क्यों मचा हुआ है? इसके पीछे राहुल गांधी का एक बयान है जो उद्धव को बीच मजधार में फंसा देने जैसा है.

राहुल ने उद्धव पर फोड़ा महाराष्ट्र की हालत का ठीकरा, कहा वहाँ हम लोग डिसीजन मेकर नही
इन दिनों देश भर में महामारी का संकट फैला है और इसमें सबसे बुरा हाल महाराष्ट्र का हो रखा है. इस पर खबरे आने लगी कि महाराष्ट्र में गठबंधन वाली सरकार टूटने जा रही है. इसी बीच अब राहुल गांधी के एक बयान ने तो इसे और भी ज्यादा हवा दे दी है. राहुल गांधी ने अपने एक बयान में कहा कि कांग्रेस पार्टी छत्तीसगढ़, पंजाब, पुडुचेरी, राजस्थान में सरकार चला रही है और अपने फैसले भी ले रही है, लेकिन महाराष्ट्र में ऐसा नही है. सरकार में होने में और सरकार को समर्थन देने में फर्क है.

राहुल गांधी में सरकार की सारी गलतियों की जिम्मेदारी उद्धव ठाकरे पर डाल दी और कहा कि हमारा इस महाराष्ट्र सरकार में कोई रोल नही है. हम लोग यहाँ पर कोई डिसीजन मेकर नही है. इसी के साथ राहुल ने संकेत दे दिए है कि उनका सिर्फ नम्बर वाला सपोर्ट उद्धव के साथ है मोरल सपोर्ट तो कांग्रेस का नजर ही नही आ रहा है. ऐसे में अब भारतीय जनता पार्टी को बोलने का मौका मिल गया है.

बीजेपी ने इसी मौके का फायदा उठाते हुए कहा है कि महाराष्ट्र में पूरी तरह से राजनीतिक अस्थिरता फैली हुई है और सरकार पूरी तरह से फेल हो रही है जिसके चलते यहाँ पर राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए.