अमित शाह ने इतने वक्त बाद कश्मीर वालो पर दिखायी नरमी, लिया ये फैसला

435

अमित शाह वैसे तो काफी ज्यादा सख्त नेता है और जब उनको कुछ करना होता है तो वो कर ही लेते है और किसी की परवाह तक नही करते है. ऐसा इसलिए है क्योंकि वो काफी जिम्मेदार पदों पर है और ऐसे में सॉफ्ट होना उनके लिए लोगो को अपने सर पर चढने का मौक़ा दे देना जैसा है. मगर कभी न कभी तो शाह का दिल भी थोडा सा पसीज ही जाता है और इस वजह से हाल ही में गृह मंत्रलाय ने जेल में बंद कई कश्मीरियों को ईद पर थोड़ी सी रियायत दी थी.

जेलों में बंद कई कश्मीरियों को दी घर पर बात करने की इजाजत, ईद पर दी गयी छूट
कई कश्मीर के लोग है जो अपने अपने गलत कामो के चलते जेलों में बंद है और इनमे से कई दिल्ली, यूपी और हरियाणा की जेलों में है. इनको ईद के मौके पर फोन दिया गया जिससे ये लोग अपने घर पर बात कर सके. इन सभी को घर पर बात करने और उनके हाल चाल सुनाने के लिए फोन उपलब्ध करवाया गया. ये सब काम गृह मंत्रालय के अंडर ही होता है और शाह की मर्जी के भला कैसे ही हो जाएगा?

वैसे अमित शाह कितने ही सख्त हो लेकिन कभी न कभी वो नरमी दिखा ही देते है. जल्द ही जब इन लोगो की सजा पूरी होगी तब इन्हें भी छोड़ ही दिया जायेगा और सरकार भी यही चाहती है कि कश्मीर में शान्ति हो जाए लेकिन कश्मीर के लोग है जो बार बार इस तरह की हरकते कर जाते है कि शाह को सख्त होने पर मजबूत होना पड़ता है वरना वो तो हर रोज ऐसी नरमी दिखाने को तैयार है जैसी ईद के मौके पर कश्मीर के कैदियों के साथ में दिखाई गयी.

इससे उन सभी मानवाधिकार की दुहाई देने वालो के मुंह पर भी पट्टी लग गयी है जो कहते थे कि कश्मीर के लोगो को जेल में तंग किया जा रहा है और उनका संपर्क तक तोड़ दिया गया है.