पालघर में दो साधुओ के बाद महाराष्ट्र में एक और साधु की जान ले ली, उद्धव राज में बेकाबू हालात

118

महाराष्ट्र में फ़िलहाल के हालात सामान्य नजर नही आते है. जिस तरह से पूरे राज्य में साधू संतो के मन में एक तरह से असुरक्षा का भाव आ गया है वो कही न कही उद्धव सरकार के बहुत ही बड़े फेलियर को उजागर करता है. आपको मालूम तो होगा ही कुछ समय पहले पालघर में क्या हुआ था? महज चोरी के शक में दो साधुओ की एक भीड़ ने जान ले ली थी और पुलिस के जवान बस खड़े होकर के देखते रह गये. इसके आंसू सूखे भी नही थे कि एक और तकलीफ देने वाली खबर फिर से सामने आ गयी है.

महाराष्ट्र के नांदेड में आश्रम के अन्दर शिवाचार्य का शरीर मिला, पुलिस को किया गया सूचित
सद्गुरु शिवाचार्य नागठणकर अपने शिष्यों के साथ रहा करते थे. रात को सब सामान्य रात की तरह सोये हुए थे और शिष्य हमेशा की तरह उठे तो अगली सुबह जब शिष्य उठे तो ये सवेरा उनके लिए सामान्य नही था. सद्गुरु शिवाचार्य का शरीर जमीन पर पड़ा हुआ था और उसमे प्राण नही थे. शिष्यों ने तुरंत इस बारे में पुलिस को सूचना दी है जिसके बाद पुलिस ने उनके शरीर को कब्जे में लेकर के आगे की तफ्तीश शुरू कर दी है.

अब हाल ही में पालघर में इतना कुछ हुआ था और इसके बाद में नांदेड में हुई ये घटना बता रही है कि कही न कही खामी तो उद्धव ठाकरे के प्रशासन में ही नजर आ रही है जहाँ पर साधू संत जो धर्म का प्रचार आदि करते है वो सुरक्षित नही है और उनकी सीधी जान ही ली जा रही है जो अपने आप में एक बड़ी चिंता का विषय है और बीजेपी इसे लेकर के सरकार पर सवाल भी उठा रही है.

खैर अभी मामले की जांच चल रही है और इस पर अंत में क्या निर्णय आता है और पुलिस की जांच क्या कहती है ये बात तो आने वाले वक्त में साफ़ हो ही जायेगी मगर अभी लोग सरकार से नाराज जरुर है.