शिवराज और सिंधिया ने मिलकर दिया कमलनाथ को एक और झटका, कांग्रेस का बंटाधार

1008

मध्य प्रदेश में फ़िलहाल के दिनों में भारतीय जनता पार्टी पूरे के पूरे जोश में है. ख़ास तौर पर जब से ज्योतिरादित्य सिंधिया सत्ता में आये है तबसे ही पूरे मध्य प्रदेश में बीजेपी के कार्यकर्ताओं में अलग ही जोश कायम हो चला है और वो एक के बाद एक बड़े कदम लिए चले जा रहे है जो कांग्रेस पार्टी के लिए तो एक तरह से गले की फांस ही साबित हो रहे है. अब ऐसा होना भी था क्योंकि स्टेट लेवल का प्रतिनिधित्व अब काफी हद तक कमजोर होते हुए नजर आ रहा था.

मध्य प्रदेश में कुल 200 और  कांग्रेस कार्यकर्ता भाजपा में शामिल हुए, शिवराज सिंह मौजूद
बीजेपी के लोगो के लिए रायसेन जिले से एक बड़ी खुशखबरी आ रही है. यहाँ पर उपचुनाव से ठीक पहले 200 लोग जो पहले कांग्रेस के सदस्य हुआ करते थे उन्होंने कांग्रेस पार्टी का दामन छोड़कर के बीजेपी का साथ थाम लिया. शिवराज सिंह चौहान भी वहाँ पर मौजूद थे और उन सभी का उन्होंने तहे दिल से स्वागत किया जो लोग कांग्रेस छोडकर के भारतीय जनता पार्टी का हिस्सा बने है.

इसे अपने आप में एक बहुत ही बड़े दिन के तौर पर देखा जा रहा है जब कही न कही बीजेपी ने उपचुनाव से ठीक पहले इतने बड़ी संख्या में कांग्रेस के लोगो को अपनी तरफ कर लिया है और ये जमीनी स्तर पर कमलनाथ के संगठन शक्ति को कमजोर कर देगा जो सीधे तौर पर शिवराज और सिंधिया को फायदा देगा. जब से ज्योतिरादित्य बीजेपी में आए है तब से एक तरह से कांग्रेस मध्य प्रदेश में हिम्मत ही हार चुकी है. इससे मालूम चलता है कि वो वाकई में कही न कही बड़े लेवल पर काम कर रहे है.

शिवराज सिंह चौहान एक लंबा वनवास काटकर के दुबारा से सत्ता पर काबिज हुए है और इसे बचाने के लिए कही न केहे वो अपना हर प्रयास जाहिर तौर पर लगाएंगे ही लगायेंगे.