अशोक गहलोत ने भेजा योगी सरकार को 33 लाख रूपये का बिल, चुकाओ पैसा

218

इन दिनों बसों पर जिस लेवल पर राजनीति हो रही है वो अपने आप में सबको हैरान कर रही है और ये कही न कही सभी लोगो को हैरान कर भी रही है. अभी हाल ही में प्रियंका गांधी को लेकर के जो मामला हुआ वो तो किसी से भी छुपा हुआ नही है और किस तरह से मजदूरो को बसे उपलब्ध करवाने को लेकर के बवाल हुए वो तो सब देख ही रहे थे लेकिन अब इसमें राजस्थान और यूपी एक दुसरे पर पैसे लेन देन करने में इतने जल्दी आ गये है.

राजस्थान रोडवेज की बसों की मदद से लाए थे यूपी के बच्चे, अब किया भुगतान
राजस्थान के कोटा शहर में काफी सारे बच्चे है जो पढ़ाई करते है और इनमे यूपी के भी कई बच्चे पढ़ते है. जब लॉक डाउन हुआ तो ऐसी स्थिति में बच्चो को अपने घर आना था जिसके लिए कई बसे यूपी की लगाई गयी जबकि बड़ी संख्या में राजस्थान रोडवेज की बसे भी लगाई गयी. इन बसों में बिठाकर इन बच्चो को यूपी में छोड़ा गया. जब प्रियंका गांधी वाला मैटर चल रहा था इसी के बीच में राजस्थान रोडवेज की तरफ जो कि अशोक गहलोत सरकार के अंडर में आती है उसने लगभग 33 लाख रूपये का बिल योगी सरकार को थमा दिया.

हो सकता है ये बिल पहले ही हो गया हो लेकिन अब विवादों में आया लेकिन योगी सरकार ने भी बोलने का मौका नही दिया और अपने राज्य के बच्चो के लिए 33 लाख रूपये का भुगतान अपनी तरफ से तुरंत ही कर दिया जिससे कि राजस्थान सरकार को बोलने का मौक़ा न मिल जाए. खैर जो भी है मामला तो शांत हो गया लेकिन दो राज्यों के बीच में इतने छोटे से बिल को लेकर के जो ये बड़ी बड़ी बाते हुई वो कही से भी अच्छी नजर नही आयी.

आपको बता दे राजस्थान के कोटा शहर में लाखो की संख्या में देश के 15 से भी ज्यादा राज्यों से बच्चे पढने के लिए आटे है और वो मुख्य तौर पर मेडिकल या फिर आईआईटी की पढ़ाई करने वाले होते है.