शिवराज सिंह के चक्रव्यूह में फंस गयी ममता, इस चिट्ठी ने उड़ा दी है रातो की नींद

622

ममता बनर्जी के नेतृत्व में बंगाल में इन दिनों क्या हालात हो रहे है ये बात तो किसी से भी छुपी हुई ही नही है और वाकई में कही न कही न सिर्फ बंगाल के लोग बल्कि वो प्रवासी जो बाहर रोजी रोटी कमाने गये थे उनको अपने घर लौटने में दिक्कत हो रही है क्योंकि ममता सरकार उनकी मदद करने की बजाय अड़ंगे लगा रही है और ऊपर से आरोप बीजेपी और उसके शासित राज्यों पर लगा रही है कि वो उनके साथ को ऑपरेट नही का रहे है और उनके साथ में भेदभाव हो रहा है.

शिवराज ने ममता को लिखी चिट्ठी, कहा आप अपने लोगो को लाने के लिए रेल मंत्रालय से बात करे
इंदौर शहर में बंगाल के कई लोग फंसे हुए है जो अपने घर जाना चाह रहे है लेकिन अब हाल ही ऐसे हो रहे है कि ऐसे जा नही सकते तो शिवराज ने ममता बनर्जी को चिट्ठी लिख दी और कहा कि आपके बंगाल के कुछ लोग है जो यहाँ फंसे है और वो वापिस जाना चाहते है लेकिन पर्सनल साधन से उनको बड़ा महंगा पड़ेगा. आप रेल मंत्रालय से इस बारे में बात करे और केंद्र सरकार से अनुरोध करे कि इंदौर कलकत्ता के बीच ट्रेन चलायी जाए ताकि आपके मजदूर घर पहुँच सके.

अब शिवराज की इस चिट्टी से प्रेरित होकर के ममता बनर्जी अगर रेल मंत्रालय को ट्रेन चलाने के लिए अनुरोध नही करती है तो फिर बंगाल के लोग खुद ही समझ जाएंगे कि ममता बनर्जी चाहती ही नही है कि उन लोगो के लिए ट्रेन चले जिसका आरोप वो अब तक केंद्र पर लगाती आई है और अगर वो ट्रेन चलाने के लिए मजबूर होकर के विनती करती है तो उनके ढुलमुल प्रशासन की पोल खुल जाएगी जो प्रवासियों के लौटने पर उन्हें संभालने में असमर्थ सा नजर आता है.

कुल मिलाकर के शिवराज सिंह चौहान ने ऐसा दांव चल दिया है जिसका जवाब ममता बनर्जी के पास में किसी भी कीमत पर फ़िलहाल तो नही है. खैर कहते है न कि हर शेर को कभी न कभी सवा शेर मिल ही जाता है.