प्रियंका दे रही है यूपी के मजदूरों को मदद के नाम पर धोखा? योगी सरकार ने खोली पोल

175

इन दिनों मजदूरों के पलायन को लेकर के उत्तर प्रदेश में बहुत ही ऊँचे लेवल की राजनीति हुई जा रही हा जिसे शुरू किया था कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने जो अपने ही बुने हुए जाल में फंसी हुई नजर आ रही है. अब ऐसा होना तो था ही क्योंकि जब आप बिना तैयारी के मैदान में कूदते हो तो ऐसा ही होता है. आपको मालूम तो होगा प्रियंका गांधी ने योगी सरकार से कहा था कि अगर उनसे मजदूरों की मदद नही हो रही तो वो हमें बसे चलाने की अनुमति दे दे.

योगी सरकार ने मांगी गाडियों की लिस्ट, प्रियंका ने भिजवा दी ऑटो और टू व्हीलर की डिटेल
अब प्रियंका गांधी ने जब सरकार के सामने प्रपोजल रखा कि उनकी पार्टी हजार बसों की मदद देना चाहती है तो योगी जी कौनसे कम है? उन्होंने तुरंत ही कह दिया ठीक है करो मदद. आप हमें बसों की डिटेल भेज दीजिए. अब कांग्रेस के पास लिस्ट थी या बसे ही नही थी ये तो मालूम नही लेकिन उन्होंने जो लिस्ट योगी सरकार को भेजी है उसमे बड़ा घपला सामने निकलकर के आ रहा है.

योगी सरकार ने जानकारी दी है कि प्रियंका गांधी वाड्रा की तरफ से जो जानकारी दी गयी है उसमे दुपहिया वाहन और ऑटो रिक्शा के नम्बर भी शामिल है. सरकार के पास सब गाडियों के व्हीकल रजिस्ट्रेशन डिटेल होते है जिससे कि उनको सब कुछ मालूम चल जाता है शायद ये बात प्रियंका गांधी भूल गयी थी. खैर जो भी है अब ये सब सामने आने के बाद में लोग नाराज हो गये है कि अगर बसे खड़ी थी यूपी बॉर्डर पर हजार आपके पास तो उनके नम्बर की जगह ये रिक्सा के नम्बर क्यों दिए जा रहे है? ये तो मजदूरों के साथ में मजाक हो रहा है.

अब कांग्रेस ने इतना बड़ा वादा कर तो दिया लेकिन अब इसे निभाया कैसे जाए इस पर आकर के अटक गए है और इसके लिए करोडो रूपये बहाने पड़ेंगे अगर बसों की व्यवस्था हो भी गयी.