योगी जी के एक फैसले से फंस गयी प्रियंका गांधी? अब जेब से करोडो निकालने पड़ेंगे

4264

इन दिनों उत्तर प्रदेश में एक अलग ही तरह की राजनीति चल रही है. अब ये बात तो हम सब लोग जानते ही है कि किस तरह से सब लोग कही न कही ऐसे वक्त में वापिस अपने अपने घरो में लौट रहे है और योगी सरकार ने भी अधिकतर लोगो के लिए जहाँ तक हो सके बसे वगेरह लगा रखी है ताकि आम लोग अपने घरो तक जा सके. इन सबके बीच प्रियंका गांधी कूद पड़ी और कहा कि आपसे तो हो नही रहा हमें परमिशन दे दो हम यूपी के लिए अपनी तरफ से 1000 बसे चलाएंगे. हमारी बसे बॉर्डर पर खड़ी है.

योगी सरकार ने तुरंत दे दी मंजूरी, कहा लिस्ट दिखाओ और भेजो बसे
योगी आदित्यनाथ इन मामलो में काफी सटीक फैसला लेते है. प्रियंका गांधी के ऐसा कहने पर योगी सरकार ने प्रियंका गांधी की इस रिक्वेस्ट को तुरंत एक दिन में ही एक्सेप्ट कर लिया और कहा आप सूची भेजे कि कहाँ है आपकी बसे? अब योगी आदित्यनाथ की सरकार का कहना है कि कांग्रेस चाहे तो मदद के लिए अपनी तरफ से बसे चला सकती है. अब ये अपने आप में काफी बड़ा झोल हो गया है.

ये भी हम आपको समझाते है क्योंकि अभी लॉकडाउन के हालात थे तो कोई ट्रांसपोर्ट तो वैसे भी नही हो पा रहा था तो ऐसे में पूरी एक हजार बसे यूपी के बॉर्डर तक आयी कैसे? अब मान भी ले कि कही से कुछ करके जुगाड़ कर भी लिया हो तो भी एक हजार बसों के परिचालन का खर्च करोडो रूपये का होना है जो अब प्रियंका गाँधी को अपनी तरफ से भुगतान करना होगा. लोग सोशल मीडिया पर कहते हुए नजर आ रहे है कि पहली बार कोई ऐसा नेता है जिसने गांधी परिवार का पैसा समाज सेवा में इस तरह से लगवा दिया.

खैर जो भी है अब कांग्रेस इतनी सारी हजार बसों की व्यवस्था कैसे करती है और जिसका वो दावा कर रही थी जिसकी सूची मांगी गयी है वो यूपी सरकार को कब तक रिस्पोंड करती है ये सब तो देखने वाली ही बात होगी.