एक दिन में योगी आदित्यनाथ ने कर दिये दो ऐतिहासिक फैसले

380

आज जहाँ देश के कई राज्य अपने हालातो से जूझ रहे है और परेशान हो रहे है कि आखिर इस महामारी के काल से कैसे निकला जाए उस दौर में उत्तर प्रदेश और वहाँ की सरकार अपने लिए विकास के अवसर तलाश रही है और कही न कही यही एक जज्बा होता है जो एक प्रदेश की तरक्की के लिए सबसे ज्यादा ख़ास और जरूरी माना जाता रहा है और वाकई में इस बार कुछ ऐसा ही देखने में भी आ रहा है जो यूपी में योगी जी करने जा रहे है.

बाहर से आये प्रवासी मजदूरो के लिए 1000 नकद मदद, उद्योगों के लिए बनेगा लैंडबैंक
योगी आदित्यनाथ ने फ़िलहाल परेशानी से जूझ रहे दोनों ही मजदूरों और उद्योगों की मदद के लिए कदम बढाए है. सबसे पहले तो जो यूपी के मजदूर जो कि पहले बाहर काम करते थे और अब वापिस लौट आये है उनके लिए ऐलान किया गया है कि वो 1 हजार रूपये तक की मदद सरकार से प्राप्त कर सकेंगे. इससे पहले भी योगी जी ने डीबीटी के जरिये लोगो तक नकद पहुंचाई थी.

इसके अलावा एक और बड़ा ऐलान है लैंडबैंक से सम्बंधित. ये उत्तर प्रदेश में एक बिजनेस के क्षेत्र में बहुत ही बड़ा रिफोर्म करने जा रहा है. अब ऐसा क्या होता है लैंड बैंक? तो ये सरकार के द्वारा ही नियंत्रित होता है और इसका कार्य होता है जो भी उद्योग किसी राज्य में निवेश करने के लिए आ रहे है उनके लिए जमीन की उपलब्धता को सुनिश्चित करना और इसमें उन्हें जो भी दिक्कते आ रही है उन्हें दूर करना. यानी अब कोई भी विदेशी कम्पनी यूपी में निवेश करने आये तो उनके लिये जमीन उपलब्ध करवाने की सारी टेंशन सरकार अपने सर पर ले रही है.

इससे कही न कही बाहर की कम्पनियों के लिए एक अच्छा सन्देश जाएगा कि हाँ उत्तर प्रदेश में सरकार वाकई में मदद करने लायक तो है जो हमें किफायती दरो में प्रोडक्शन करने में मदद करेगी. अब अगर ऐसा होता है तो यूपी के लिए ये गेम चेंजर हो सकता है.