सुब्रमण्यम स्वामी ने की गुजरात के सीएम विजय रूपानी को हटाने की मांग की, ये है वजह

330

पूरी भारतीय जनता पार्टी में सिर्फ एक नेता ही है जो कही न कही बिलकुल ही बोल्ड तरीके से बोलता है. चाहे पीएम मोदी की गलती हो या फिर किसी वरिष्ठ नेता की हो स्वामी जी किसी को भी नही छोड़ते है और एक्शन की डिमांड अपने लेवल से करते ही करते है और इन दिनों वो किसी से कुछ ज्यादा ही नाराज चल रहे है. जिन पर स्वामी जी की नाराजगी है वो है विजय रूपानी. अब काफी हद तक स्वामी जी की नाराजगी जायज भी है और कुछ हद तक शायद ज्यादा भी लगे.

विजय रूपानी की जगह अनंदी बेन बने फिर से मुख्यमंत्री, तभी कण्ट्रोल होगी महामारी
देश के सभी राज्यों में गुजरात धीरे धीरे टॉप स्टेट्स में चला गया है जहाँ पर करोना से हालत बड़ी खराब हो रही है और ये राज्य के रूरल इलाको तक में फ़ैल गया है जिसके चलते वहाँ के मेनेजमेंट से स्वामी जी कुछ ज्यादा ही नाराज है. उन्होंने तो ये तक कह दिया है कि गुजरात में करोना को तब ही रोका जा सकता है जब विजय रूपानी की जगह आनंदी बेन फिर से मुख्य मंत्री के तौर पर आये.

हालांकि गुजरात अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रहा है लेकिन इसके बावजूद अभी तक करोना पर रत्ती भर भी काबू नही हो सका है. बार बार बड़े बड़े शहरो को बंद करने की नौबत आ रही है जो इकॉनमी के लिए भी जाहिर तौर पर बहुत ही ज्यादा नुकसानदायक है. अब ऐसी स्थिति में कही न कही स्वामी जी की बात भी वाजिब तो लगती है लेकिन ऐसा नही है कि विजय रूपानी अपनी तरफ से कुछ कर ही नही रहे है. हाँ उनके प्रयास इतने प्रभावी साबित नही हो रहे है ये तो है.

माना जा रहा है कि देश में करोना का पीक जून में आएगा जिसके बाद में इसका ग्राफ गिरना शुरू होगा और फिर हालात काफी हद तक सामान्य होने लग जायेंगे. इसी बीच सरकारे धीरे धीरे बिजनेसेज को भी चालू कर रही है आर धीरे धीरे अर्थव्यवस्था ठीक करने के प्रयास कर रही है.