17 मई के बाद बढेगा लॉकडाउन या खत्म होगा? मिला सरकार से ये बड़ा संकेत

1148

देश अब लॉकडाउन के तीसरे चरण में है और लगभग दो महीने होने आये है जब से सब लोग अपने अपने घरो में बंद बैठे है. ऐसे वक्त में आम लोगो पर तो इसकी मार दोहरी पड़ रही है क्योंकि एक तो बीमारी का डर ऊपर से आमदनी का टेंशन. ऐसे वक्त में जब सब लोग इन्तजार कर रहे है कि लॉकडाउन और ये करोना जल्द से जल्द खत्म हो तो ऐसे वक्त में सरकार और उसके विभाग कुछ और ही संकेत देते हुए नजर आ रहे है जो इसके बढाए जाने की तरफ इशारा कर रहे है.

आईसीएमआर, एम्स और स्वास्थ्य मंत्रालय अभी हालत को लेकर के चिंतित, बढ़ सकता है लॉकडाउन
आईसीएमआर का कहना है कि मदिरा की छूट देना तभी एक गलत फैसला है. इससे सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ गयी है. वही स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी इस पर चिंता जतायी है और दिल्ली में जिस तरह से लॉकडाउन में छूट दी गयी है उस पर उन्होंने कहा है कि ऐसा नही किया जाना चाहिए था. वो इसके खिलाफ नजर आये है. अब बात करे एम्स की तो यहाँ पर तो और भी अधिक गंभीरता नजर आ रही है.

एम्स के निदेशक ने कहा है कि अभी तो इसका पीक जून और जुलाई में होगा इसलिए लॉकडाउन में अभी से छूट देना गलत साबित होगा. आगे चलकर के मामल और अधिक होंगे इसलिए अभी छूट नही दी जानी चाहिए. वो अभी भी लॉकडाउन बढाने के पक्षधर नजर आ रहे है. जिस तरह से स्वास्थ्य विभाग से जुड़े लोग लगातार अभी भी उसी राह पर चलने का पक्ष ले रहे है उससे मालूम चलता है कि सरकार पर भी एक प्रेशर बन रहा है.

इससे एक तस्वीर तो साफ़ हो जाती है कि 17 मई के बाद में बिजनेस रिज्यूम किये जा सकते है. कई आर्थिक गतिविधियाँ जो देश को गति देने के लिए जरूरी है वो चालू हो सकती है लेकिन शायद रेड जोन्स में या फिर ओरेंज जोन्स में अभी भी लोगो के निकलने पर पाबंदी जारी रहे क्योंकि लोगो को जीवित रखना भी एक चुनौती है.