क्या करोना से लड़ने में मोदी हुए सफल? सर्वे में इतने प्रतिशत लोगो ने किया मोदी के पक्ष में वोट

266

देश के हालात इन दिनों काफी खस्ता है और सिर्फ भारत ही नही बल्कि दुनिया के अधिकतर देश परेशानी से जूझ रहे है क्योंकि जिस तरह से बीमारी भारत में तेजी के साथ में पाँव पसार रही है वो किसी भी तरह के खतरे से खाली नही है लेकिन सरकार इस मामले में कितनी तेज तर्रार है? ये बात भी तो समझनी आखिर जरूरी है और इसे हम एक बहुत ही गणमान्य संस्था के सर्वे के माध्यम से समझ सकते है जिसने शहरी आबादी के बीच में मोदी सरकार के बारे में जाकर के राय इकट्ठा की है.

85 फीसदी लोग मोदी के पक्ष में, 26 हजार लोगो से ली गयी राय
एक काफ़ी बड़ी और मल्टी नेशनल रिसर्च कम्पनी है जिसका नाम है इस्पोस. इसने लगभग 26 हजार लोगो के बीच में एक सर्वे किया और लोगो से राय मांगी कि क्या वो मोदी सरकार जो भारत में काम कर रही है महामारी को रोकने के लिए उससे संतुष्ट है तो उसमे 85 से 87 फीसदी तक लोगो ने इस बात पर मोदी का पक्ष लिया और उनके द्वारा किये गये कार्यो की सराहना भी की.

वही बचे हुए लगभग 15 प्रतिशत लोग जो भी शहरी थे उन्होने इसमें नाखुशी जाहिर की जिनमे से अधिकतर जाहिर तौर पर इसलिए नाराज रहे है क्योंकि उन पर इसका इकनोमिक इम्पेक्ट पड़ा है. जबकि जो लोग अपने अपने तरीके से जान बचाने को प्राथमिकता पर रखते है उन्होंने सरकार के कार्यो की जमकर के सरहाना करने की बजाय नाखुशी जाहिर की है हालाँकि ये बात भी पूरी तरह से सत्य है कि हर किसी को खुश करना सम्भव तक नही है, फिर ऐसे वक्त में तो बिलकुल भी नही जब देश ऐसे वक्त से गुजर रहा हूँ. हालांकि 85 प्रतिशत लोगो का आंकडा भी कोई छोटा नही है जो मोदी के सपोर्ट में है.

उम्मीद की जा रही है कि जल्द से जल्द रिकवरी रेट संक्रमण की रफ़्तार से आगे बढ़ेगी और भारत एक स्वस्थ देश के रूप में सबके सामने उभर कर के लौटेगा.