चीन की कमर तोड़ देगा अब भारत, नितिन गडकरी का बड़ा बयान

1683

इन दिनों दुनिया एक बहुत ही बड़ी आबादी लॉकडाउन के साए में जी रही है और बड़े ही तकलीफ में भी है क्योंकि जिस तरह के हालात हर जगह हो रखे है वो बुरा है मगर जब ये लॉकडाउन वगेरह सब खत्म होगा तो भारत के लिए उसमे से एक सकारात्मक चीज भी निकलकर के सामने आ रही है जो अपने आप में एक मील का पत्थर साबित हो सकता है और भारत को काफी फायदा दे सकता है जिसका इशारा खुद केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी दिया है.

चीन के लिए विश्व में जो माहौल बना है, उसे विदेशी निवेशको को आकर्षित करने के लिए अवसर के रूप में समझना होगा
नितिन गडकरी ने अपने एक बयान में कहा है कि सारी दुनिया में आज की तारीख में चीन के लिए बड़ी घृणा है. क्या हमारे लिए भारत के लिए इसे एक आर्थिक अवसर के रूप में बदल पाना संभव है? जापान ने भी चीन से बाहर जा रहे व्यापारियों के लिए आर्थिक पैकेज की घोषणा की है. मेरा मानना है कि हम इस पर ध्यान केन्द्रित करेंगे. हम उन्हें मंजूरी देंगे जो विदेशी निवेश लाये या फिर आकर्षित करे.

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि चीन से लगभग 1000 बड़ी कम्पनियां है जो चीन से अब निकलने के मूड में है और ये बिलियंस में अपना व्यापार करती है. इनमे से अधिकतर के भारत आने के बड़े ही तगड़े चांस है क्योंकि भारत ही वो देश है जो सस्ते में लेबर उपलब्ध करवाकर के अच्छे रेट पर मेनुफक्चरिंग करवा सकता है और साथ ही साथ में यहाँ पर इन्फ्रास्ट्रक्चर भी फ़िलहाल काफी सही स्थिति में है तो ऐसे में जो कम्पनियां चीन से निकलेगी उन्हें भारत सरकार अगर मदद करती है तो कुछ ही साल में करोड़ो लोगो की नौकरियाँ लगेगी.

ऐसा होना भारत को एक एशिया की महाशक्ति के रूप में उभार सकता है जिसके लिए गडकरी के बयान से पुष्टि भी होती है कि सरकार इस पर काफी ज्यादा गंभीर है और अपनी तरफ से काम कर रही है.