लॉकडाउन में भूख से तड़प रही बच्चियों ने किया मोदी सरकार के ऑफिस में फोन, 1 घंटे में आ गया..

203

हिन्दुस्तान इन दिनों में जिस तरह के हालातो में फंसा हुआ नजर आ रहा है वो किसी युद्ध से कम नही है और कही न कही ये बड़ा ही तकलीफ से भरा भी है क्योंकि जिस तरह से लोगो को आए दिन इतनी ज्यादा दिक्कत देखनी पडती है वो आज तक के इतिहास में नही हुई और न ही इतना लम्बा लॉक डाउन कभी विश्व भर में देखा गया है. ऐसे में अमीरों के पास तो अपने साधन है लेकिन गरीब अब भी परेशान है पर उनके लिए सरकार भी तो हर समय तैयार है.

भागलपुर की बच्चियों ने किया था हेल्पलाइन पर फोन, घंटे भर में आ गयी मदद
तीन बच्चियां जिनका नाम गोरी, आशा और कुमकुम है वो तीनो अनाथ है और वो भागलपुर के खंजरपुर की रहने वाली है. जब तक कि सब ठीक था वो बर्तन वगेरह मांजकर के खर्च चलाती थी लेकिन अब जब लॉक डाउन हो गया तो उनके पास तीन दिन से कुछ खाने तक को नही था और वो दर्द से कराह उठी. इसके बाद उन्हें एक नम्बर मिला जो कि विदेश मंत्रालय द्वारा जारी की गयी हेल्पलाइन थी.

उन्होंने फोन करके अपनी सारी तकलीफ सुनाई तो ये बात पर के अधिकारियों तक पहुँच गयी जो सीधा सरकार से सम्बन्ध रखते है. अब आप मोदी सरकार की मुस्तैदी देखिये फोन घुमाने के महज एक घंटे के भीतर ही कुछ लोग उनके पास में खाना लेकर के पहुँच गये. जब बच्चियों ने अपने पास खाना आते देखा तो एक बार के लिए वो भावुक सी हो गयी और उन्होंने मोदी सरकार को धन्यवाद किया कि वो गरीबो के बारे में इतना सोचते है.

जहां एक तरफ बड़े बड़े विकसित देश अर्थव्यवस्था को तरजीह दे रहे है वही दूसरी तरफ भारत ने लोगो की जन बचाने को तरजीह दी और उसी पर ही अडिग भी रहा है जो इसे सबसे अलग और सबसे ख़ास बना देता है. आज विश्व की बड़ी बड़ी संस्थाए भारत के प्रयासों की तारीफ़ कर रही है.