पूरी दुनिया में कोरोना फैलाने के बाद भी नही रूक रही चीन की बेशर्मी, अब किया ये घटिया काम

4916

आज पूरा विश्व एक बहुत ही बड़ी और भारी कीमत चुका रहा है और सभी जानते है कि इसमें गलती चीन की थी. रिसर्च कहती है कि चीन ने कोरोना के बारे में दुनिया को पहले ही अवगत करवा दिया होता तो आज ये हाल नही होता और शायद 66 प्रतिशत तक कम नुकसान कम होता. अब इतना सब होने के बाद सबको लगा कि चीन को शायद गिल्ट महसूस हो लेकिन ऐसा करने के बजाय चीन अभी भी बाकी देशो को इसमें और धकेलने में लगा हुआ है.

पहले स्पेन को भेजे फर्जी टेस्ट किट, अब नीदरलैंड को बेच दिए इस्तेमाल किये हुए और बेकार मास्क
अब दुनिया में कोरोना फ़ैल चुका है और इससे निपटने के लिए जो मेडिकल का सामान चाहिए उसकी फेक्ट्रियां तो बंद पड़ी है जिसके चलते कई देश मजबूरी में चीन से सामान मंगवा रहे है मगर चीन उसमे भी उन्हें ऐसा धोखा दे रहा है जिससे उसकी पूरी की पूरी विश्वसनीयता पर ही सवाल खड़े हो जाते है.

दरअसल पहले तो स्पेन ने चीन से कोरोना की जांच करने के किट मंगवाए थे जो इतनी घटिया क्वालिटी के थे कि उससे पता कर पाना ही मुश्किल था कि किसे कोरोना है और किसे नही? इसके बाद नीदरलैंड के साथ चीन ने और भी बुरा किया और उसे लाखो की संख्या में मास्क सप्लाई किये जिनमें से अधिकतर मास्क बेकार या फिर इस्तेमाल किये हुए निकले. अब आप समझ सकते है कि चीन अब मेडिकल सामान भी इतने घटिया क्वालिटी के दे रहा है जिससे लोगो का ठीक होना तो दूर होना की बात है बल्कि लोग और ज्यादा बीमार जरुर पड जायेंगे जो कि अपने आप में चिंता का विषय कहा जा सकता है.

ऐसे में दुनिया भर में कई तरह की थ्योरीज सामने आ रही है जिससे मलूम तो यही चलता है कि चीन का इसमें हाथ हो सकता है लेकिन कोई भी देश बिना किसी बड़े और ठोस सबूत के चीन को सीधे सीधे चुनौती भी नही देना चाह रहा है.