आधी रात को कमलनाथ को आया राज्यपाल से आया ये आदेश, लगा करारा झटका

838

कमलनाथ इन दिनों जिस तरह की मुसीबत से घिरे हुए है वो अपने आप में चिंता का कारण पूरी कांग्रेस पार्टी के लिए बना हुआ है. कमलनाथ के लिए दिक्कत तो होनी ही थी क्योंकि वो मुख्यमंत्री पद से हाथ जो धो सकते है और उसके पीछे की वजह कही न कही सिंधिया को ही बताया जा रहा है जिन्होंने अचानक से ही भाजपा ज्वाइन कर ली और विधायको को अपने साथ ले गये. ऐसे में कमलनाथ के पास में बहुमत नही है और वो कोशिश कर रहे थे कि अभी फ्लोर टेस्ट न हो ताकि उनकी सरकार बची रहे लेकिन अब नया खेल हो गया.

लालची टंडन ने दिया निर्देश, 16 मार्च को बहुमत साबित करे कमलनाथ
मध्य प्रदेश में जो भी हुआ वो तो हम लोग जानते ही है कि कमलनाथ अपना बहुमत लगभग खो चुके है मगर अब राज्यपाल लालजी टंडन की चिट्ठी ने तो सबको परेशान ही करके रख दिया है. लालजी टंडन की चिट्ठी देर रात को कमलनाथ के पास में पहुंची जिसमे उन्हें मध्य प्रदेश के ताजा हालातो को देखते हुए बहुमत साबित करने के लिये कहा गया.

रिपोर्ट के अनुसार पत्र में लिखा था ‘मुझे इस बात की जानकारी मिली है कि आपके 22 विधायको ने विधानसभा स्पीकर को अपना इस्तीफा सौंप दिया है. मेने मीडिया में भी इस कवरेज को देखा है.’ इसके बाद में राज्यपाल ने साफ़ तौर पर अपने संवैधानिक शक्तियों का उपयोग करते हुए निर्देश दिया है कि वो अपना बहुमत विधानसभा में साबित करे और जो सेशन होगा वो उनके अभिभाषण के साथ में शुरू होगा. पूरे मामले में राज्यपाल के हस्तक्षेप के बाद में विधानसभा में गहमागहमी बहुत ही तेजी के साथ में बढ़ चुकी है.

ऐसे में कांग्रेस पार्टी ने अपने समर्थन के विधायको को जयपुर से बुला लिया है और सिंधिया पाले के जो विधायक है वो अभी भी बैंगलोर में ही है तो ऐसे में वो आयेंगे या फिर नही ये तो आने वाले समय में ही पता चलेगा. बीजेपी ने भी अपने विधायको को मौजूद रहने के लिए व्हिप जारी कर दिया है.