ज्योतिरादित्य सिंधिया पर अटैक जान बचाकर भागे, इन पर लगा इल्जाम

3029

ग्वालियर के महाराज कहे जाने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया इन दिनों देश की राजनीति में चर्चा का प्रमुख केंद्र बने हुए है. जिस तरह से अचानक से ही सिंधिया ने भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन की और पीछे कमलनाथ सरकार को गिरने के लिए छोड़ दिया उसके बाद में बीजेपी में तो उनके अच्छे खासे दोस्त बन गये है और उनका जोरदार स्वागत भी हुआ लेकिन साथ ही साथ में लग रहा है सिंधिया ने अपने कई सारे दुशमन भी बना लिए है जो उनके पीछे पड़े हुए है और इसका नजारा कल रात को देखने को मिल गया.

सिंधिया की कार पर अटैक, शिवराज ने कमलनाथ सरकार पर लगाया इल्जाम
दरअसल ज्योतिरादित्य सिंधिया अपनी गाडी से जा रहे थे तब कथित तौर पर उनकी गाडी को घेरा गया और उन पर पथर फेके, इसके अलावा उनकी गाडी को घेरा भी गया, इससे पहले की कुछ हो पाता ड्राईवर ने तेजी से गाडी भगाई और उन्हें बचाकर के निकाल लिया और सिंधिया सुरक्षित बच निकले है. फ़िलहाल वो सुरक्षित है और लोगो के बीच में है.

इस पूरी घटना के बाद में शिवराज सिंह चौहान काफी नाराज हुए और इस पूरे घटनाक्रम पर मीडिया से बातचीत भी की. शिवराज ने बयान जारी करते हुए कहा कि सिंधिया जी की गाडी रोकने की कोशिश हुई थी लेकिन किसी तरह से वो वहाँ से बच निकले है. बीजेपी इस पूरे मामले की जांच की मांग करती है, अगर एक पूर्व मंत्री के साथ में ऐसा होता है तो आप समझ सकते है कि राज्य में क़ानून प्रशासन की क्या स्थिति है? क्या राज्य में सत्ता खोने से बौखलाई सरकार ये सब करवा रही है? यहाँ पर शिवराज सिंह चौहान सीधे सीधे तौर पर कमलनाथ सरकार पर इल्जाम लगाते हुए नजर आये.

अब कही न कही ज्योतिरादित्य के लिए ख़तरा तो पैदा हो ही गया है क्योंकि इस पूरी घटना के बाद में उनका कही भी अकेले बाहर निकलना मुश्किल है क्योंकि जो एक बार हुआ है वो दुबारा भी हो सकता है और अगर इसके इल्जाम सत्ता पक्ष पर ही लग रहे है तो सुरक्षा भी कौन देगा?