मोदी को अचानक आया इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू का फोन, मांगी फ़ौरन मदद

4809

भारत और इजरायल की दोस्ती काफी ज्यादा ऐतिहासिक मानी जाती है. दोनों ही देश एक दूसरे के लिए अपने अपने रिसोर्सेज की मदद से जो भी बन पड़ता है वो करते आये है और इसके पीछे कारण भी है. कही न कही एक भावनात्मक सम्बन्ध जो बन गया है और इन दिनों इजरायल अपने ऊपर बहुत ही बड़ा ख़तरा महसूस कर रहा है जिसमे उनके प्रधानमंत्री ने अपने पुराने दोस्त यानी भारत को याद किया है और भारत भी ऐसे वक्त में सबकी मदद करता ही है, यहाँ हम लोग कोरोना की बात कर रहे है.

कोरोना के बाद बाहर से आने वाले खाध्य पदार्थ हो सकते है बाधित, भारत ने दिया मदद का आश्वासन
इजरायल के पास में खूब टेक्नोलॉजी और पैसा है लेकिन खाने पीने के सामान के लिए इजरायल बाहर के देशो पर निर्भर है और ऐसे में अगर कोरोना की समस्या इसी तरह से बढती चली गयी तो आने वाले कुछ दिनों में खाध्य आपूर्ति बाधित हो सकती है जिससे इजरायल में लोगो के पास खाने पीने का सामान खत्म हो सकता है और ऐसे में इजरायल चाहता है कि भारत ऐसे समय में किसी तरह से खाने पीने के सामान की सप्लाई बनाये रखने में मदद करे.

बेंजामिन के स्टेटमेंट के अनुसार भारत ने ऐसे समय में उनकी मदद करने का पूरा आश्वासन दिया ई और कहा है कि चाहे कुछ भी हो जाए भारत इजरायल के साथ में अपनी दोस्ती निभाएगा. पीएम मोदी के इसी आश्वासन के बाद में इजरायल और वहां के लोग शांत हुए है वरना हर तरफ फ़िक्र का माहौल बन गया था. अमेरिका भी अपने देश में मेडिकल इमरजेंसी ला सकता है अगर इसी तरह की स्थिति बनी रही.

भारत की बात करे तो यहाँ पर सरकार इसे रोकने के लिए पूरी कोशिश कर रही है. कोरोना की जाँच के लिए जगह जगह पर लैब भी बनाई गयी है और अब तक अधिकतर सेम्पल नेगेटिव आये है मगर केस अब तक 73 के पार जा चुके है जो भी चिंता का विषय ही है.