अयोध्या जाकर उद्धव ठाकरे ने कह दी ऐसी बात, जिसे सुन शरद पवार जल भुन जायेंगे

525

उद्धव ठाकरे आज महाराष्ट्र में नही है बल्कि यूपी के शहर अयोध्या में है. पहले से ही उनका शेड्यूल फिक्स था कि वो यहाँ जायेंगे और रामलला के दर्शन करेंगे. इससे अच्छी बात किसी के लिए और क्या हो सकती है कि वो भगवान् राम के दर्शन करे. हालांकि एनसीपी इस चीज को लेकर के सहज नही थी लेकिन फिर भी ठाकरे अपने वोटरो को रिझाने के लिए अयोध्या गये और वहाँ दर्शन भी किये. इसके बाद उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कुछ ऐसी बाते कह दी जो शायद सेक्युलर पार्टियों को पसंद नही आयेगी जिनके सपोर्ट से उद्धव ठाकरे सीएम बने हुए है.

बीजेपी से नाता टूटा है, हिंदुत्व से नही टूटा है
अयोध्या में दर्शन करने के बाद में उद्धव ठाकरे ने मीडिया से बातचीत की और इसी दौरान आज तक के एक पत्रकार ने उनसे बीजेपी और हिंदुत्व को लेकर के सवाल पूछ लिया जो उनसे अक्सर पूछा जाता है कि क्या एनसीपी और कांग्रेस से मिलकर के वो भी सेक्युलर हो गये है? इस पर जवाब देते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमने बीजेपी से नाता जरुर तोडा है लेकिन अभी भी हिंदुत्व से नाता नही टूटा है.

इसके बाद उन्होंने राम मंदिर निर्माण के लिए अपनी तरफ से एक करोड़ रूपये देने का भी ऐलान किया है. ये उनके निजी खर्च से होगा, पार्टी खर्च से होगा, फंड इकठ्ठा होगा या फिर सरकार की तरफ से देने जा रहे है ये अभी तक पता नही है लेकिन उद्धव ठाकरे ने एक करोड़ रूपये देने की घोषणा जरुर की है. अब जिस तरह के बयान उद्धव ने अयोध्या में जाकर के दिए है उसके बाद में उनके ही अपने साथी यानी एनसीपी और कांग्रेस ने कुछ ज्यादा ही नाराज होने वाले है इस बात को समझ ही सकते है.

इससे पहले भी उद्धव ने औरंगाबाद एअरपोर्ट का नाम बदलकर छत्रपति साम्भाजी एयरपोर्ट कर दिया था जिससे सेक्युलर दलों का नाराज होना तो बड़ा ही वाजिब सी बात है, बीच में तो इनके बीच के मनमुटाव मीडिया तक में आ गये थे लेकिन सत्ता बचाए रहने के लिए जैसे तैसे चला रहे है.